न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

इंफेक्शन, बाह्य वातावरण और आनुवंशिकता हैं चर्म रोग की वजहें

62
  • चर्मरोग विशेषज्ञ डॉ सरोज राय ने न्यूज विंग से खास बातचीत में दी जानकारी

Chandan Choudhary

Ranchi : चर्म रोग से अक्सर युवक-युवतियां व बच्चे एवं अधेड़ उम्र के लोग भी परेशान रहते हैं. कभी गोरापन लाने के लिए तरह-तरह की क्रीम और ब्यूटी टिप्स का उपयोग करते हैं, तो कभी चेहरे या अन्य स्थानों पर निकलनेवाले कील-मुंहासों को लेकर डिप्रेशन में चले जाते हैं. स्किन से जुड़ी ऐसी ही बीमारियों और इसकी रोकथाम पर न्यूज विंग संवाददाता ने चर्म रोग विशेषज्ञ डॉ सरोज राय से बात की. प्रस्तुत है बातचीत के प्रमुख अंशः-

hosp3

सवाल : स्किन से संबंधित रोग होने की वजह क्या है?

जवाब : स्किन से संबंधित रोग इंफेक्शन, बाह्य वातावरण और आनुवंशिकता के कारण होता है. इंफेक्शन में जैसे दिनाय आदि बीमारी होती है. बाह्य परिवेश में रहने से सूर्य की रोशनी या बहुत ज्यादा ठंड की वजह से कई स्किन डिसऑर्डर निकल आते हैं. बारिश में ज्यादा भीगने से स्किन रैशेज हो सकते हैं.

सवाद : स्किन से संबंधित बीमारियों की रोकथाम के लिए क्या उपाय किये जाते हैं?

जवाब : चर्म रोग से बचने के लिए सबसे ज्यादा प्रमुख बात जो ध्यान देनी चाहिए, वह है स्वच्छता. स्वयं को स्वच्छ रखना चाहिए, अपने आस-पास भी सफाई बनाकर रखनी चाहिए. कई बीमारियां हैं, जो गंदगी और अनहाईजेनिक कंडीशन में फैलती हैं. साफ-सफाई का ख्याल रखने से कई बीमारियों से बचा जा सकता है.

सवाल : इस मौसम में किस प्रकार की बीमारी से सतर्क रहना चाहिए?

जवाब : वर्तमान समय में जो मौसम है, इसमें एलर्जी ज्यादा पनपने लगती है. इस मौसम में डस्ट, खान-पान से एलर्जी होने का खतरा बना रहता है. इस समय बाहर का खाना ज्यादा नहीं खाना चाहिए.

सवाल : डर्मेटाइरिस, एग्जिमा और सोरयासिय क्या हैं?

जवाब : सोरयासिस वह बीमारी है, जिसमें स्किन में लाल चकत्ता होकर पपड़ी निकलने लगती है. ऐसी कोई दवा नहीं है, जिससे सोरयासिस को पूरी तरह से ठीक किया जाता है. लेकिन, लगातार दवा लेने से यह नजर नहीं आता. यह कोई छुआछूतवाली बीमारी नहीं है. डर्मेटाइटिस या एग्जिमा, ये दोनों ड्राई स्किन की बीमारी होती है. अंदरूनी और बाह्य दोनों एलर्जी की वजह से यह होता है. इसका इलाज संभव है. इससे घबराने की जरूरत नहीं है.

सवाल : वर्तमान समय में युवक-युवतियां जो क्रीम आदि का उपयोग करते हैं, वह कितना लाभकारी या हानिकारक है?

जवाब : जितने भी ओटीसी प्रोडक्ट हैं, ये सभी नुकसानदेह हैं. ये क्रीम चेहरे पर निखार तो लाती हैं, लेकिन त्वचा को काफी डैमेज भी करती हैं.

सवाल : क्या कील, मुंहासे या तिल को शरीर से हटाना संभव है?

जवाब : कील या मुंहासे हार्मोनल प्रॉब्लम है. 90 प्रतिशत लोग इससे पीड़ित रहते हैं. इसके लिए आधुनिक ट्रीटमेंट आ चुका है. लेजर या केमिकल की मदद से इसे ठीक किया जा सकता है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: