Sports

#INDvsBAN 1st Test : मयंक का दोहरा शतक, भारत ने कसा शिकंजा

Indore : सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल के धमाकेदार दोहरे शतक की मदद से भारत ने बांग्लादेश के खिलाफ पहले टेस्ट के दूसरे दिन शुक्रवार को यहां छह विकेट पर 493 रन बनाकर मैच पर अपना मजबूत शिकंजा कस दिया.

Jharkhand Rai

अग्रवाल ने 329 गेंदों पर 243 रन की बड़ी और आकर्षक पारी खेली जिसमें 28 चौके और आठ छक्के शामिल हैं. उन्होंने अंजिक्य रहाणे (86) के साथ चौथे विकेट के लिये 190 रन की बड़ी साझेदारी की. इसके अलावा उन्होंने चेतेश्वर पुजारा (54) के साथ दूसरे विकेट के लिये 91 और रविंद्र जडेजा (नाबाद 60) के साथ पांचवें विकेट के लिये 123 रन जोड़े. कप्तान विराट कोहली हालांकि नाकाम रहे और खाता खोले बिना ही पवेलियन लौटे.

भारत ने इस तरह से बांग्लादेश पर 343 रन की मजबूत बढ़त हासिल कर ली है. बांग्लादेश की टीम पहली पारी में 150 रन पर सिमट गयी थी.

इसे भी पढ़ें : शहीद ग्राम आवास योजना : दो साल दो माह पूर्व अमित शाह ने किया था भूमि पूजन, एक ईंट भी नहीं जुड़ी

Samford

दो या अधिक दोहरे शतक लगाने वाले 12वें बल्लेबाज बने अग्रवाल

अग्रवाल ने मेहदी हसन मिराज पर लांग आन पर छक्का जड़कर दिलकश अंदाज में अपना दूसरा दोहरा शतक पूरा किया. उन्होंने अपना पहला दोहरा शतक इस साल अक्टूबर में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ विशाखापट्टनम में लगाया था. वह भारत की तरफ से दो या इससे अधिक दोहरे शतक लगाने वाले 12वें बल्लेबाज बन गये हैं.

अपना आठवां टेस्ट मैच खेल रहा यह 28 वर्षीय सलामी बल्लेबाज छक्के से दोहरा शतक पूरा करने वाला दूसरा भारतीय क्रिकेटर है. रोहित शर्मा ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ रांची टेस्ट में यह उपलब्धि हासिल की थी.

अग्रवाल जब 150 रन पर पहुंचे तो कोहली ने खुश होकर उन्हें दो उंगलियां दिखायी जिसका मतलब था कि क्रीज पर डटे रहो और फिर से दोहरा शतक जड़ो. अग्रवाल ने जब अपने कप्तान की इच्छा को हकीकत में बदला तो कोहली और पूरी टीम खुशी से झूम उठी.

उन्होंने इसके बाद तेजी से रन बटोरने शुरू किये. अग्रवाल ने ताईजुल इस्लाम पर छक्का लगाकर अपना पिछला सर्वोच्च स्कोर (215) पार किया तथा इसके बाद महमुदुल्लाह और मेहदी की गेंद भी छह रन के लिये भेजी. उन्होंने अपने आठ में से पांच छक्के मेहदी पर लगाये जिन्होंने आखिर में उनकी पारी का अंत भी किया.

इस आफ स्पिनर पर पांचवां छक्का जड़ने के बाद अग्रवाल ने अगली गेंद को भी स्वीप करके लंबा शाट खेला लेकिन इस बार डीप मिडविकेट पर अबु जायेद के रूप में क्षेत्ररक्षक मौजूद था जिन्होंने उसे कैच में बदल दिया. अग्रवाल इस तरह से बांग्लादेश के खिलाफ किसी भारतीय के सर्वोच्च स्कोर का सचिन तेंदुलकर (नाबाद 248) का रिकार्ड तोड़ने से चूक गये.

जडेजा ने 14वां अर्द्धशतक पूरा किया

इसके बाद जडेजा ने जिम्मेदारी संभाली तथा अपना 14वां टेस्ट अर्धशतक पूरा किया. उमेश यादव ने लंबे शाट खेलने में फिर से अपनी महारत दिखायी. वह दस गेंदों पर 25 रन बनाकर खेल रहे हैं जिसमें तीन छक्के शामिल हैं. जडेजा ने अब छह चौके और दो छक्के लगाये हैं.

बांग्लादेश की तरफ से तेज गेंदबाज अबु जायेद (108 रन देकर चार) सबसे सफल गेंदबाज रहे जबकि मेहदी (125 पर एक) और तेज गेंदबाज इबादत हुसैन (115 पर एक) ने एक, एक विकेट लिया.

बांग्लादेश केवल चार गेंदबाजों के साथ खेल रहा था जिसका उसे खामियाजा भुगतना पड़ा. उसके गेंदबाज प्रभाव नहीं छोड़ पाये जबकि कामचलाऊ स्पिनर महमुदुल्लाह को 104वें ओवर में गेंद सौंपी गयी जिससे मोमिनुल हक की अनुभवहीनता भी उजागर हुई.

जिस पिच पर बांग्लादेश के बल्लेबाज पहले दिन जूझते रहे उस पर अग्रवाल ने मनमाफिक शॉट लगाये. लंच के बाद उनका ताइजुल पर लगाया गया छक्का दर्शनीय था जबकि उन्होंने मेहदी हसन मिराज को विशेष निशाने पर रखा और उन पर चार छक्के लगाये.

बांग्लादेश ने जब तक दूसरी नयी गेंद ली तब तक उनके खिलाड़ी निराश हो चुके थे जिससे साफ लग रहा था कि उन्होंने मैच में आशा छोड़ दी है.

इसे भी पढ़ें : #Jamshedpur: जमशेदपुर में एसीबी ने सिंचाई विभाग के मुख्य अभियंता के घर की छापेमारी, 2.44 करोड़ रुपये बरामद, जमीन और फ्लैट के दस्तावेज भी मिले

रहाणे ने पूरे किये 4000 रन 

वेस्टइंडीज दौरे से ही अच्छी फार्म में चल रहे रहाणे ने भी अपना 21वां टेस्ट अर्धशतक पूरा किया. इसके बीच उन्होंने 62वें टेस्ट मैच में 4000 रन भी पूरे किये. वह चाय के विश्राम के तुरंत बाद जायेद की गेंद पर डीप प्वाइंट पर खड़े ताइजुल को कैच दे बैठे. उनकी 172 गेंद की पारी में नौ चौके शामिल हैं.

सुबह हालांकि कोहली की बल्लेबाजी देखने के लिये स्टेडियम में पहुंचे लगभग 10,000 दर्शकों को हालांकि निराशा हाथ लगी. बांग्लादेश की तरफ से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले अबु जायेद (58 रन देकर तीन विकेट) ने उन्हें खाता भी नहीं खोलने दिया.

पारी के शुरू में जायेद ने आफ कटर की और जब पगबाधा की उनकी अपील ठुकरा दी गयी तो डीआरएस का सहारा लिया. तीसरे अंपायर ने भारतीय कप्तान को पगबाधा करार दिया और इस तरह से कोहली शून्य पर पवेलियन लौट गये.

इससे पहले सुबह जायेद का भाग्य ने साथ नहीं दिया क्योंकि मेहदी ने उनकी गेंद पर पुजारा का कैच छोड़ दिया था. सौराष्ट्र के बल्लेबाज ने अगली गेंद पर स्क्वायर कट करके अपने टेस्ट करियर का 23वां अर्धशतक पूरा किया. लेकिन वह जीवनदान का फायदा नहीं उठा पाये और स्थानापन्न सैफ हसन ने तीसरी स्लिप में उनका शानदार कैच लिया. पुजारा ने अपनी पारी में नौ चौके लगाये.

इसे भी पढ़ें : #Palamu: खस्ताहाल सड़क पर ग्रामीणों ने घेरा विधायक आलोक चौरसिया को, पूछा- कहां थे इतने दिन 

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: