NEWSWING
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

इंडोनेशिया : गुस्साई भीड़ ने मौत का बदला लेने के लिए 300 मगरमच्छों को मार डाला

इंडोनेशिया के पापुआ प्रांत में उस समय मगरमच्छों की शामत आ गयी,  जब मगरमच्छों के बाड़े में गिर जाने के बाद शिकार बने सुगिटो नाम के व्यक्ति की मौत हो गयी.

468

Jakarta : इंडोनेशिया के पापुआ प्रांत में उस समय मगरमच्छों की शामत आ गयी,  जब मगरमच्छों के बाड़े में गिर जाने के बाद शिकार बने सुगिटो नाम के व्यक्ति की मौत हो गयी. उसके बाद गुस्साई भीड़ ने  वहां 300 मगरमच्छों को मार डाला. अधिकारियों के अनुसार बदले की आग में मगरमच्छों को मारने की यह घटना शनिवार को पापुआ प्रांत में एक शख्स के अंतिम संस्कार के बाद घटी.  पुलिस और संरक्षण अधिकारियों ने जानकारी दी कि सुगिटो अपने पशुओं के चारे के लिए घास ढूंढने गया था. तभी वह मगरमच्छों के बाड़े में गिर गया. उन्होंने बताया कि मगरमच्छ ने उसके एक पैर को काट लिया और एक मगरमच्छ के पिछले हिस्से से टकराकर उसकी मौत हो गयी. अधिकारियों के अनुसार आवासीय इलाके के पास फार्म की मौजूदगी को लेकर गुस्साये सुगिटो के रिश्तेदार और स्थानीय निवासी पुलिस थाने पहुंचे.

इसे भी पढ़ें : भूमि अधिग्रहण बिल पर विपक्ष ने फूंका बिगुल, हेमंत ने कहा – जनता पर थोपा जा रहा काला कानून

फार्म मुआवजा देने को तैयार था

स्थानीय संरक्षण एजेंसी के प्रमुख बसर मनुलांग ने इस संबंध में कहा कि उन्हें बताया गया था कि फार्म मुआवजा देने को तैयार है. अधिकारियों ने जानकारी दी कि इससे अंसतुष्ट भीड़ चाकू,  छुरा और खुरपा लेकर फार्म पहुंच गयी और चार इंच लंबे बच्चों से लेकर दो मीटर तक के 292 मगरमच्छों को मार डाला. पुलिस और संरक्षण अधिकारियों का कहना था कि वह इस भीड़ को रोक पाने में असमर्थ थी. अधिकारियों ने कहा कि वे इसकी जांच कर रहे हैं और आपराधिक आरोप भी तय किये जा सकते हैं. बता दें कि इंडोनेशिया द्वीपसमूह में मगरमच्छों की कई प्रजातियों समेत विभिन्न वन्यजीव पाये जाते हैं. मगरमच्छों को संरक्षित जीव माना जाता है.

palamu_12

इसे भी पढ़ें – घोषणा कर भूल गयी सरकारः 16 जुलाई 2016: सीएम ने पंचायत प्रतिनिधियों को मोटिवेट करने की कही थी बात

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

ayurvedcottage

Comments are closed.

%d bloggers like this: