Corona_UpdatesHEALTHLead NewsNational

कोरोना के खिलाफ लड़ाई में उसे मात देने के लिये भारत का नया हथियार, ट्रायल शुरू करने की मांगी मंजूरी

भारत बायोटेक ला रहा है नेजल वैक्सीन

Uday Chandra

New Delhi : कोरोना के खिलाफ लड़ाई में भारत को एक और अहम सफलता मिली है.कोरोना की वैक्सीन कोवैक्सीन बनाने वाली कंपनी भारत बायोटेक ने अब Nasal वैक्सीन तैयार किया है.कपंनी ने अब ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) से इसकी ट्रायल शुरू करने की मंजूरी मांगी है।

माना जा रहा है कि कंधे पर लगने वाले वैक्सीन के मुकाबले नेजल वैक्सीन अधिक प्रभावकारी है।भारत बायोटक ने इसे वाशिंगटन यूनिवर्सिटी के साथ मिलकर तैयार किया है.कंपनी ने इसके लिए पहले और दूसरे चरण के ट्रायल की अनुमति  मांगी है.भारत बायोटेक के आधिकारिक प्रवक्ता के मुताबिक ट्रायल नागपुर, भुवनेश्वर, पुणे और हैदराबाद जैसे शहरों में करने की तैयारी है.इसके ट्रायल में 18 से 65 वर्ष तक के लोगों को वॉलंटियर के रूप में शामिल किया जायेगा.

इसे भी पढ़ें :

गेमचंजेर साबित हो सकती नेजल वैक्सीन

माना जा रहा है कि नेजल वैक्सीन अधिक प्रभावकारी साबित हो सकती है क्योंकि वायरस के शरीर में प्रवेश करने का एक रास्ता नाक है .नाक से ही वैक्सीन दिए जाने पर फेफड़े पर इसका तुरंत प्रभाव पड़ता है.भारत बायोटेक की यह वैक्सीन कामयाब हुई तो भारत कोरोना के खिलाफ लड़ाई में दूसरे देशों के मुकाबले तेजी से आगे निकल जाएगा और यह आने वाले समय में गेमचंजेर साबित हो सकता है.

फिलहाल भारत सरकार ने पिछले हफ्ते सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया की कोविशील्ड, और भारत बायोटेक की कोवैक्सीन को आपात इस्तेमाल की मंजूरी दी है.इस बीच देश में जल्द ही बड़े पैमाने पर टीकाकरण का काम शुरू होने की तैयारी चल रही है. आज से टीकों का परिवाहन भी शुरू हो जाएगा.

इसे भी पढ़ें :

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: