BokaroJharkhand

#IndianOil के पंप में पानी मिलाकर पेट्रोल बेचने का आरोप, कई वाहन सीज होने की शिकायत, सील किया गया

Gomia (Bokaro): बोकारो जिले के गोमिया थाना अंतर्गत होसिर जीरो प्वाइंट स्थित तेनुघाट पेट्रोल सप्लाई कॉर्पोरेशन के इंडियन ऑयल के पेट्रोल पंप पर गुरुवार को लोगों ने जमकर हंगामा कर किया.

लोगों का आरोप था कि इस पंप से पानी मिलाया हुआ पेट्रोल बेचा जा रहा है. लोग अपने मोटरसाइकिल, ऑटो रिक्शा एवं चारपहिया तथा सवारी वाहनों से भरे तेल जमीन पर गिरा रहे थे, जिसमें पानी की मात्रा साफ दिख रही थी.

लोगों के हंगामे को बढ़ता देख सूचना गोमिया अंचलाधिकारी ओम प्रकाश मंडल को दी गयी. अंचलाधिकारी की गैरमौजूदगी में अंचल निरीक्षक सुरेश बर्णवाल, गोमिया पुलिसकर्मियों के साथ मोर्चा संभालते हुए उक्त पेट्रोल पंप पहुंचे.

advt

कर्मचारियों से एक लीटर के बोतल में पेट्रोल निकालने के निर्देश दिये जिसमें 90 प्रतिशत पानी होने की पुष्टि की गयी.

अंचल निरीक्षक सुरेश बर्णवाल के समक्ष पानी मिले पेट्रोल की पुष्टि होने पर हंगामा और बढ़ गया, जिसके बाद पुलिसकर्मियों की मौजूदगी में अंचल निरीक्षक बर्णवाल ने पेट्रोल उपभोक्ताओं को समझा बुझाकर शांत किया और बैठकर बात करने की बात कही.

इसे भी पढ़ें : #Jamshedpur: कोऑपरेटिव लॉ कॉलेज ने कट-ऑफ मार्क्स की जगह DOB पर जारी की मेरिट लिस्ट

पानी के कारण सीज हो गये कई वाहनों के इंजन

#IndianOil के पंप में पानी मिलाकर पेट्रोल बेचने का आरोप, कई वाहन सीज होने की शिकायत, सील किया गया
इसी पेट्रोल पंप पर लगाया गया है पानी मिलाकर पेट्रोल बेचने का आरोप.

घटना की जानकारी देते हुए गोमिया निवासी त्रिभुवन कुमार ने बताया कि उनकी कार (जेएच10ए एक्स 1057) में पेट्रोल की जगह पानी भर दिया गया जिसके बाद गाड़ी बंद हो गयी.

adv

पुटकाडीह छतरबोरवा के रहने वाले अजय कुमार प्रजापति ने कहा कि गुरुवार सुबह लगभग 11:15 बजे अपनी मारुति ओमनी (जेएच 09 एसी 6289) से पेट्रोल पंप में तेल लेने आये. तेल डालते ही अचानक मेरी गाड़ी बंद हो गयी. मैंने तुरंत मिस्त्री को बुलाया. मिस्त्री ने गाड़ी की जांच की और पूछा कि आपने तेल के बदले पानी डलवा लिया है? इस बात पर उन्हें भी आश्चर्य हुआ और उन्होंने तेल निकालकर पेट्रोल पंप के कर्मचारियों को दिखाया.

मिस्त्री ने बताया कि गाड़ी में पानी आ जाने के कारण गाड़ी का इंजन सीज हो गया है. इसको ठीक कराने में काफी रुपये खर्च होंगे. फिर एक के बाद एक कई दोपहिया वाहन चालकों की शिकायतें आने लगी और हो हंगामा शुरू हो गया.

जुर्माने की बात पर टालमटोल करने लगा मैनेजर

अंचल निरीक्षक सुरेश बर्णवाल ने पेट्रोल पंप पहुंचकर पंप के उपस्थित कर्मचारियों से बात की और गाड़ी ठीक कराने के लिए जुर्माना देने की मांग की. कर्मचारी उनकी बात पर पहले तो टालमटोल करने लगा.

वह कहने लगा कि मालिक से बात करने पर ही कुछ बता पायेंगे. फिलहाल वह सिर्फ तेल का पैसा दे सकता है, जबकि पीड़ितों का कहना था कि पानी मिला हुआ तेल डालने के कारण उनकी गाड़ी के इंजन को नुकसान पहुंचा है और कुछ के सीज भी कर गया है. इसको ठीक करवाने में काफी रुपये खर्च होंगे.

इसी बात को लेकर वहां लोगों की भीड़ जमा हो गयी और सभी लोग पेट्रोल पंप के खिलाफ हंगामा करने लगे.

इसे भी पढ़ें : #MomentumJharkhand: पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास, राजबाला वर्मा समेत कई अधिकारियों के खिलाफ एसीबी में शिकायत

अंचल निरीक्षक ने मुआवजे को लेकर की पंप संचालक से बात

लोगों के आक्रोश को देखते हुए पेट्रोल पंप के संचालक बबलू मानेक से भी बात की, जिस पर पंप संचालक ने पीड़ितों को उचित भुगतान राशि देने की बात कही. तब कहीं जाकर मामला शांत हुआ.

अंचल निरीक्षक द्वारा फिलहाल उक्त पानी निकलने वाले पंप प्वाइंट को सील कर विभागीय जांच के आदेश दिए गये हैं. जांच के बाद हीं उसे पुनः चालू किया जायेगा.

बता दें कि इससे पहले भी उक्त इंडियन ऑयल पेट्रोल पंप में मिलावटी तेल और तेल कम देने की शिकायतें आ चुकी हैं. पहले भी इसी पंप से गाड़ियों मे कम तेल डालने का मामला आया था जिसपर काफी हंगामा हुआ था.

शिकायत पर अनुमंडल प्रशासन ने एक नॉजल को परीक्षण के लिए भेजा था. परिणामस्वरूप जांच पूरी होने तक प्वाइंट को सील कर दिया था.

क्या कहते हैं पंप संचालक?

पंप संचालक बबलू मानेक ने बताया कि प्वाइंट से पानी मिला तेल निकलना एक नेचुरल प्रक्रिया है. कभी-कभी तकनीकी खराबी के कारण ऐसी शिकायतें आती हैं.

जितने भी उपभोक्ताओं को वाहन संबंधित शिकायतें आयी हैं उसका निदान किया जायेगा.

इसे भी पढ़ें : #Latehar: वृद्धा, विधवा और दिव्यांगों को सितंबर से नहीं मिल रही पेंशन, दिसंबर तक 19 करोड़ से अधिक बकाया

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button