Lead NewsSports

भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया को कैनबरा के आखिरी वनडे में 13 रन से हराया

विज्ञापन

KENBRA :  आस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे और आखिरी एक दिवसीय क्रिकेट मैच में भारत ने 13 रनों से जीत हासिल कर ली है. कैनबरा वनडे में टीम इंडिया ने टॉस जीतकर पहले बैटिंग की और 303 रन का टारगेट दिया. इसके जवाब में ऑस्ट्रेलिया 289 रन ही बना सकी. कप्तान एरॉन फिंच ने सबसे ज्यादा 75 और ग्लेन मैक्सवेल ने 59 रन की पारी खेली. फिंच की वनडे में यह 29वीं और मैक्सवेल की 22वीं फिफ्टी है.

इस मैच में शानदार फार्म में चल रहे हार्दिक पंड्या ने एक बार फिर ‘संकटमोचक’ की भूमिका निभाते हुए आस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे और आखिरी एक दिवसीय क्रिकेट मैच में रविंद्र जडेजा के साथ मिलकर भारत को पांच विकेट पर 302 रन तक पहुंचाया.

इसे भी पढ़ेंः डुमरी के रेफरल अस्पताल में इलाज के क्रम में नवजात की मौत, परिजनों ने चिकित्सक पर लगाया लापरवाही का आरोप

पंड्या ने 76 गेंद में नाबाद 92 रन बनाये जबकि जडेजा 50 गेंद में 66 रन बनाकर नाबाद रहे. दोनों ने भारतीय पारी को शुरूआती दबाव से निकाला. कप्तान विराट कोहली ने भी संघर्षपूर्ण अर्धशतक लगाया. पंड्या और जडेजा 32वें ओवर में साथ आये और छठे विकेट के लिये 150 रन की अटूट साझेदारी करके खेल की तस्वीर बदल दी.

आस्ट्रेलियाई टीम शुरूआती दोनों मैच और श्रृंखला पहले ही जीत चुकी है. एक समय ऐसा लग रहा था कि भारतीय टीम 250 रन भी नहीं बना सकेगी लेकिन जडेजा और पंड्या ने भारत को 300 के पार पहुंचाया. दोनों ने क्रीज पर जमने में समय लिया लेकिन उसके बाद तेजी से रन बनाये. उन्होंने 46वें से 48वें ओवर के बीच 53 रन बनाये. आखिरी पांच ओवरों में 73 रन बने. पंड्या ने अपनी पारी में सात चौके और एक छक्का लगाया जबकि जडेजा ने पांच चौके और तीन छक्के जड़े.

इसे भी पढ़ेंः कृषि कानून : किसान आंदोलन के समर्थन में झारखंड के किसान मनाएंगे विरोध सप्ताह

कोहली , पंड्या और जडेजा के अलावा भारत का कोई बल्लेबाज सपाट पिच पर खुलकर नहीं खेल सका. शिखर धवन (16) और केएल राहुल (पांच) जैसे सीनियर बल्लेबाज खराब शॉट खेलकर आउट हुए जबकि श्रेयस अय्यर भी 19 रन ही बना सके. मानुका ओवल की पिच बड़े स्कोर के लिये जानी जाती है लेकिन भारतीय शीर्षक्रम यहां लय हासिल नहीं कर सका.

कोहली इस बीच सचिन तेंदुलकर का रिकार्ड तोड़कर सबसे तेजी से 12000 रन पूरे करने वाले बल्लेबाज बने. उन्होंने 78 गेंद में पांच चौकों की मदद से 63 रन बनाये. आस्ट्रेलिया के लिये एश्टोन एगर ने 44 रन देकर दो विकेट लिये. भारत की शुरूआत पिछले दो मैचों की तुलना में धीमी रही और पहले तीन ओवर में सिर्फ एक चौका लगा. इस दौरान सलामी बल्लेबाजों ने 12 डॉट गेंदें खेली. भारत को पांचवें ओवर में पहला झटका लगा जब सीन एबोट को बाहर निकलकर खेलने के प्रयास में धवन एगर को कैच देकर आउट हो गए.

कोहली और गिल ने 56 रन जोड़े लेकिन गिल 16वें ओवर में एगर को स्वीप लगाने के प्रयास में पगबाधा आउट हो गए.उन्होंने 39 गेंद में तीन चौकों और एक छक्के के साथ 33 रन बनाये. अय्यर को मार्नस लाबुशेन ने आउट किया जबकि राहुल खराब स्वीप शॉट खेलकर एगर का दूसरा शिकार हुए. कोहली को 32वें ओवर में डीआरएस पर विकेट के पीछे कैच आउट दिया गया.

इसे भी पढ़ेंः 7 दिसंबर से कोचिंग खोलने का फैसला लेने के बाद सीएम से अनुमति मांगने पहुंचा एसोसिएशन

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: