न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

ISSF वर्ल्ड चैंपियनशिप में भारतीय निशानेबाज ओम प्रकाश मिथरवाल को स्वर्ण पदक

मनु और हिना फाइनल में जगह बनाने में नाकाम

423

Changwon (South Korea) : भारतीय निशानेबाज ओम प्रकाश मिथरवाल ने मंगलवार को 50 मीटर पिस्टल स्पर्धा जीतकर आईएसएसएफ विश्व चैंपियनशिप में अपना पहला स्वर्ण पदक जीता. इस साल गोल्ड कोस्ट में हुए राष्ट्रमंडल खेलों की 10 मीटर एयर पिस्टल और 50 मीटर पिस्टल स्पर्धा के कांस्य पदक विजेता 23 साल के मिथरवाल 564 अंक जुटाकर शीर्ष पर रहे.

2014 के टूर्नामेंट के रजत पदक विजेता जीतू राय ने किया निराश 

जूनियर वर्ग में एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेता सौरभ चौधरी और अभिदन्या पाटिल ने 10 मीटर एयर पिस्टल में मिश्रित टीम स्पर्धा का कांस्य पदक जीता. इन दो पदक के साथ भारत ने 12 साल पहले जागरेब में छह पदक के अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन को पीछे छोड़ दिया. मिथरवाल की स्पर्धा में सर्बिया के दामिर मिकेच ने 562 अंक के साथ रजत जबकि स्थानीय दावेदार दाइम्युंग ली ने 560 अंक के साथ कांस्य पदक जीता. वर्ष 2014 के टूर्नामेंट के रजत पदक विजेता अनुभवी जीतू राय ने निराश किया और वह 552 अंक का बेहद खराब प्रदर्शन करते हुए 17वें स्थान पर रहे.

hosp3

इसे भी पढ़ेंःसूचना मंत्रालय ने जारी की एडवाइजरीः ‘दलित’ शब्द के इस्तेमाल से बचे मीडिया

50 मीटर पिस्टल अब ओलंपिक का हिस्सा नहीं है

मौजूदा चैंपियनशिप 2020 ओलंपिक की पहली क्वालीफाइंग प्रतियोगिता है लेकिन 50 मीटर पिस्टल अब ओलंपिक का हिस्सा नहीं है इसलिए कोई कोटा स्थान नहीं मिला. इस वर्ग की टीम स्पर्धा में मिथरवाल, जीतू और मनजीत (532) 1648 अंक के साथ पांचवें स्थान पर रहे. मनजीत व्यक्तिगत स्पर्धा में 56वें स्थान पर रहे और जीतू की तरह फाइनल में जगह बनाने में नाकाम रहे. महिला निशानेबाजों के पास ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने का मौका था लेकिन वे 10 मीटर एयर पिस्टल में नाकाम रही.

इसे भी पढ़ेंःजोधपुरः भारतीय वायुसेना का विमान दुर्घटनाग्रस्त, पायलट सेफ

मनु और हिना फाइनल में जगह बनाने में नाकाम

एशियाई खेलों में पदक जीतने में नाकाम रही युवा मुन भाकर और अनुभवी निशानेबाज हिना सिद्धू दोनों ही फाइनल में जगह नहीं बना पाईं. मनु 574 अंक के साथ 13वें जबकि हीना 571 अंक के साथ 29वें स्थान पर रहीं. मनु, हीना और श्वेता सिंह (568) की भारतीय टीम 1713 अंक जुटाकर चौथे स्थान पर रही. सौरभ और पदार्पण कर रही अभिदन्या ने इसके बाद 761 अंक के साथ पांच टीमों के फाइनल में जगह बनाई. देवांशी राणा और अनमोल जैन की भारत की दूसरी जोड़ी ने भी 765 अंक के साथ दूसरे स्थान पर रहते हुए फाइनल में प्रवेश किया.

इसे भी पढ़ेंःबाढ़ त्रासदी के बाद अब रैट बुखार की चपेट में केरल, 12 लोगों की मौत

सौरभ और अभिदन्या ने फाइनल में 329.6 अंक के साथ कांस्य पदक जीता

सौरभ और अभिदन्या ने फाइनल में 329 .6 अंक के साथ कांस्य पदक जीता. इस स्पर्धा का स्वर्ण और रजत मेजबान दक्षिण कोरिया की झोली में गया. गौरतलब है कि सोमवार को अंजुम मोदगिल और अपूर्वी चंदेला महिला 10 मीटर एयर राइफल स्पर्धा में क्रमश: रजत पदक और चौथे स्थान पर रहते हुए ओलंपिक कोटा हासिल करने में सफल रही थी. इस टूर्नामेंट की 15 स्पर्धाओं में 60 ओलंपिक कोटा दांव पर लगे हुए हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: