न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बुनियादी ढांचे की कमी से भारतीय कंपनियां  डिजिटलीकरण को अपनाने में पीछे : विशेषज्ञ

बुनियादी ढांचे की कमी की वजह से भारतीय कंपनियां डिजिटलीकरण को अपनाने में पीछे हैं.

318

Singapur :  बुनियादी ढांचे की कमी की वजह से भारतीय कंपनियां डिजिटलीकरण को अपनाने में पीछे हैं. विशेषज्ञों ने यह राय व्यक्त की है. यह स्थिति तब है जबकि ज्यादातर प्रौद्योगिकी नवोन्मेषण और समाधान भारत में विकसित किये जा रहे हैं. एसपी जैन स्कूल आफ ग्लोबल मैनेजमेंट में लॉजिस्टिक्स एवं आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन के प्रोफेसर और ग्लोबल एमबीए के प्रमुख डॉ राजीव असेरकर ने कहा, लगभग सभी अंतरराष्ट्रीय संगठनों ने भारत में प्रौद्योगिकी लैब स्थापित की हैं. यह कुछ ऐसी स्थिति है कि प्रौद्योगिकी समाधान का विकास भारत में हो रहा है जबकि इनका इस्तेमाल दुनिया में अन्य देशों के लोग कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें- लालू परिवार की बढ़ी मुश्किलेंः IRCTC केस में आरोपी के तौर पर लालू, राबड़ी व तेजस्वी को समन

भारत के पास युवा प्रतिभाएं हैं

वैश्विक प्रबंधन सलाहकार कंपनी एक्सेंचर के प्रबंध निदेशक साइरिल वित्जास ने कहा कि भारत बदलाव लाने वाली प्रौद्योगिकियों के प्रबंधन को लेकर बेहतर स्थिति में है. भारत के पास युवा प्रतिभाएं हैं जो नवोन्मेषण और स्टार्ट अप्स के जरिये नए विचारों को आगे बढ़ा रही हैं. एक्सेंचर स्ट्रैटिजी का बेंगलुरु में विशिष्टता केंद्र है. विशेषज्ञों का कहना है कि ज्यादातर नवोन्मेषण और समाधान भारत में बनी प्रयोगशालाओं से आ रहे हैं. ऐसे में भारतीय कंपनियां डिजिटल प्रौद्योगिकी को तेजी से कम लागत में अपनाने को लेकर लाभ की स्थिति में हैं. असेरकर कहते हैं कि अभी तक भारतीय कंपनियां ढांचे की कमी की वजह से डिजिटलीकरण को अपनाने में पीछे हैं.

इसे भी पढ़ें-घोषणा कर भूल गयी सरकार-28 जुलाई : ना अपोलो खुला, ना फल-सब्जी वालों को अलग जगह मिली, ना विधि व्यवस्था व अनुसंधान अलग हुआ

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: