न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

भारतीय कोच शास्त्री का आलोचकों को जवाबः  दूर बैठकर बातें बनाना आसान 

खराब ओपनिंग पर कोच चिंतित, अश्विन के खेलने पर भी संशय बरकरार

988

Melbourne:  इंडियन टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री ने आलोचकों पर निशाना साधते हुए कहा कि लाखों मील दूर बैठकर बातें करना आसान होता है. हालांकि, अपनी टिप्पणी में शास्त्री ने किसी का नाम नहीं लिया. लेकिन आलोचनाओं को उन्होंने सिरे से खारिज करते हुए जता दिया कि उन्हें ये टिप्पणियां पसंद नहीं आईं. शास्त्री ने टीम को निशाना बनाने वाले पूर्व क्रिकेटरों पर पलटवार करते हुए कहा, ‘जब आप लाखों मील दूर बैठे होते हों तो बातें बनाना आसान होता है. वे काफी दूर बैठकर टिप्पणी कर रहे हैं और हम दक्षिणी गोलार्ध में हैं. हमें वह करना है जो टीम के लिए सर्वश्रेष्ठ है, यह सामान्य सी बात है.’ वही टीम की खराब ओपनिंग पर उन्होंने चिंता जाहिर की है.

ज्ञात हो कि पर्थ में दूसरे टेस्ट में भारत को 146 रन से हार का सामना करना पड़ा. जिसके बाद महान बल्लेबाज सुनील गावस्कर जैसे लोगों ने टीम प्रबंधन की चयन नीति पर सवाल उठाए. साथ ही कप्तान विराट कोहली तथा मुख्य कोच से अधिक जवाबदेही की मांग की.

चयन मामले में शास्त्री ने कहा कि एकमात्र दुविधा रविंद्र जडेजा को खिलाने को लेकर थी और ऐसा कुछ नहीं था जैसा कुछ विशेषज्ञों ने बना दिया. भारत के मुख्य कोच ने कहा, ‘जडेजा के अलावा मुझे नहीं लगता कि चयन को लेकर और कोई दुविधा थी और अगर ऐसा कुछ था तो यह मेरी समस्या नहीं है.’

वही दूसरे टेस्ट के दौरान मैदान पर जडेजा और इशांत शर्मा की बीच हुई बहस पर उन्होंने कहा, ‘मैं कभी हैरान नहीं होता (इस तरह की कवरेज से). कई तरीकों से यह टीम को एकजुट होने के लिए प्रेरित कर सकती है और उम्मीद करते हैं कि ऐसा ही हो.’

खराब ओपनिंग टीम के लिए समस्या

शास्त्री ने हालांकि स्वीकार किया कि शीर्ष क्रम टीम के लिए मुद्दा है. क्योंकि लोकेश राहुल और मुरली विजय दो टेस्ट की लगातार चार पारियों में विफल रहे.  उन्होंने शीर्ष क्रम की समस्या को बड़ी चिंता बताते हुए कहा कि शीर्ष क्रम को जिम्मेदारी और जवाबदेही लेनी होगी. साथ ही कहा कि उन्हें यकीन है कि उनके पास अनुभव है और वे योगदान देंगे.

अश्विन के खेलने पर संशय

वही चोट के कारण भारतीय ऑफ स्पिनर आर अश्विन का मेलबर्न टेस्ट मैच में खेलने पर संशय बरकरार है. पेट में मांसपेशियों के खिंचाव के कारण वह पर्थ टेस्ट में भी नहीं खेल पाए थे. कोच रवि शास्त्री ने कहा, ‘बॉक्सिंग डे टेस्ट के लिए अश्विन काफी इम्प्रूव कर रहे हैं. हम अगले 48 घंटों में एक बार फिर जायजा लेंगे और उसके बाद ही तय करेंगे कि अगले मैच के लिए अश्विन तैयार हैं या नहीं.’

मयंक अग्रवाल को मिलेगा मौका !

कोच शास्त्री ने मयंक अग्रवाल के टीम में शामिल होने के संकेत दिए. टीम प्रबंधन विकल्प के रूप में मयंक अग्रवाल के नाम पर गंभीरता से विचार कर रहा है. रवि शास्त्री ने मयंक की तारीफ करते हुए उन्हें अच्छा युवा खिलाड़ी बताया. उन्होंने कहा कि मयंक ने भारत ए के लिए ढेरों रन बनाए हैं. अगर आप उसका घरेलू रिकॉर्ड देखो तो वह किसी भी अन्य खिलाड़ी जितना अच्छा है. इसलिए हमें इस पर फैसला करना होगा.

वही पर्थ में मिली हार के बाद टीम इंडिया की स्थिति पर किए गये सवाल के जवाब में शास्त्री ने कहा कि श्रृंखला 1-1 से बराबर होने के बावजूद भारत अच्छी स्थिति में है और ऐसा मौका उसे दक्षिण अफ्रीका या इंग्लैंड में नहीं मिला.चार मैचों की सीरीज का तीसरा टेस्ट 26 दिसंबर से मेलबर्न में खेला जाएगा.

इसे भी पढ़ेंः पाकिस्तान पीएम को नसीर की सीख

इसे भी पढ़ेंः कोलेबिरा उपचुनाव में कांग्रेस आगे

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: