National

बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद भारतीय सेना का ऑपरेशन सनराइज, म्यांमार में चीन समर्थित 10 उग्रवादी कैंप तबाह

NewDelhi : पाकिस्तान के बालाकोट में घुसकर एयर स्ट्राइक के बाद अब भारत ने म्यांमार में तीसरी सर्जिकल स्ट्राइक की है. खबरों के अनुसार भारतीय सेना ने म्यांमार की सेना के साथ मिलकर चलाये गये ऑपरेशन सनराइज के तहत म्यांमार सीमा पर एक उग्रवादी समूह से संबंधित 10 शिविरों को उड़ा दिया. बताया गया कि ऑपरेशन सनराइज एक बड़ा अभियान था, जिसमें चीन द्वारा समर्थित कचिन इंडिपेंडेंट आर्मी के एक उग्रवादी संगठन, अराकान आर्मी को निशाने पर लिया गया. इस हमले के संबंध में सूत्रों ने बताया कि इन शिविरों को म्यांमार के अंदर नष्ट किया गया. अभियान 10 दिनों में पूरा किया गया है. जानकारी दी गयी कि भारतीय सेना ने म्यांमार को अभियान के लिए हार्डवेयर और उपकरण मुहैया कराये. साथ ही सीमा पर बड़ी संख्या में बलों को तैनात किया. यह अभियान इस बात की जानकारी मिलने के बाद चलाया गया कि उग्रवादी कोलकाता को समुद्र मार्ग के जरिए म्यांमार के सितवे से जोड़ने वाली विशाल अवसंरचना परियोजना को निशाना बना रहे हैं. यह परियोजना कोलकाता से सितवे के रास्ते मिजोरम पहुंचने के लिए एक अलग मार्ग मुहैया कराने वाली है. परियोजना 2020 तक पूरी होने वाली है.

इसे भी पढ़ेंः छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम रमन सिंह के दामाद पर 50 करोड़ के घोटाले का मामला दर्ज

पाकिस्तान में एयर स्ट्राइक के जरिए जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी कैंपों को तबाह किया था

इससे पूर्व भारत ने पाकिस्तान में एयर स्ट्राइक के जरिए जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी कैंपों को तबाह किया था. जब सर्जिकल स्ट्राइक 2 कर आतंकियों को मुंहतोड़ जवाब दिया. 14 फरवरी को पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने आतंकियों को सबक सिखाने के लिए उनके कैंप पर हमला किया. भारतीय वायुसेना ने सोमवार की देर रात 3.30 बजे (मंगलवार सुबह 3.30 बजे)  मिराज 2000 फाइटर प्लेन से पाकिस्तान के बालकोट (Balakot) में स्थित आतंकियों के ठिकाने पर 1000 किलो बम बरसाये. सरकारी सूत्रों के अनुसार वायुसेना की बड़ी कार्रवाई में करीब 300 आतंकवादी मारे गए हैं और इसमें जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अज़हर का बहनोई यूसुफ अज़हर भी मारा गया जो यह कैंप चला रहा था. भारतीय वायुसेना का ऑपरेशन 20 मिनट तक चला और सारे विमान सुरक्षित लौट आये.

advt
इसे भी पढ़ेंः अनिल अंबानी ने 19 मार्च तक 453 करोड़ रुपये एरिक्सन कंपनी को नहीं दिये तो जेल जाना पड़ेगा

adv

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: