न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सीनियर भारतीय टीम के बाद अब अंडर-19 एशिया कप चैम्पियन बना भारत

श्रीलंका की पारी को 38.4 ओवर में 160 रन पर समेट कर छठी बार चैम्पियनप बनी.

81

Dhaka : भारत ने बल्लेबाजों के शानदार प्रदर्शन के बाद हर्ष त्यागी के छह विकेट के दम पर रविवार को फाइनल में श्रीलंका को 144 रन से हराकर अंडर-19 एशिया कप वनडे क्रिकेट टूर्नामेंट ट्राफी अपने नाम कर ली है.  कुछ ही दिन पहले सीनियर भारतीय टीम दुबई में हुए फाइनल में बांग्लादेश को हराकर महाद्वीपीय चैम्पियन बनी थी.

प्रबल दावेदार भारतीय टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 50 ओवर में तीन विकेट पर 304 रन बनाने के बाद श्रीलंका की पारी को 38.4 ओवर में 160 रन पर समेट कर छठी बार चैम्पियनप बनी.

इसे भी पढ़ें : यूपी-बिहार वासियों पर हमले : गुजरात में एसआरपी की 17 कंपनियां तैनात,  342  गिरफ्तार

टास जीत कर बल्लेबाजी

मैन ऑफ द मैच हर्ष त्यागी ने 10 ओवर में 38 रन देकर छह विकेट लिए। सिद्धार्थ देसाई को दो और मोहित जांगड़ा को एक विकेट मिला. टास जीत कर बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम को सलामी बल्लेबाजों यशस्वी जयसवाल (85) और अनुज रावत (57) ने शानदार शुरूआत दिलायी। दोनों ने 25.1 ओवर में 121 रन की साझेदारी की.

मैन ऑफ द सीरीज यशस्वी ने 113 गेंद की पारी में आठ चौके और एक छक्का लगाया, उन्होंने दूसरे विकेट के लिए देवदत्त पद्दीक्कल (31) के साथ 59 रन जोड़ें.

इसे भी पढ़ें : धार्मिक परंपराओं पर सिलेक्टिव एप्रोच न अपनाये  सुप्रीम कोर्ट: जेटली 

हर्ष त्यागी की फिरकी

कप्तान सिमरन सिंह (नाबाद 65) और आयुष बदोनी (नाबाद 52 रन) अंतिम ओवरों में ताबड़तोड़ बल्लेबाजी कर टीम के स्कोर को 300 के पार पहुंचाया. दोनों ने अंतिम नौ ओवरों में नाबाद 100 रन की साझेदारी की. सिमरन ने 37 गेंद में तीन चौके और चार छक्के की मदद से नाबाद 65 रन जबकि आयुष बदोनी ने 28 गेंद में दो चौके और पांच छक्के के साथ नाबाद 52 रन बनाये.

इसे भी पढ़ें : भारत स्वतंत्र नीति पर चलता है, अहसास है कि अमेरिका पाबंदी लगा सकता है : जनरल  रावत

बड़े लक्ष्य के दबाव और हर्ष त्यागी की फिरकी में श्रीलंका की पारी बिखर गयी सलामी बल्लेबाज निशान मधुश्का फर्नांडो (49), पासिंधू सूरियाबंडारा (31) और नावोद परनाविताना (48) के अलावा कोई भी बल्लेबाज भारतीय गेंदबाजों का समाना नहीं कर सके.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: