न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

इंडिया टीवी-सीएनएक्स ओपिनियन पोल  : बहुमत से दूर रहेगी भाजपा, राजग को 257 सीटें

2019 लोकसभा चुनाव दिल्ली की सत्ता पर काबिज भारतीय जनता पार्टी के लिए तनाव भरा रहने वाला है. बता दें कि अभी हाल ही में भाजपा अपने तीन बड़े राज़्य मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान कांग्रेस के हाथों हार चुकी है. अब एक नये सर्वे में भाजपा को आगामी लोकसभा चुनाव में बहुमत से दूर दिखाया गया है.

939

NewDelhi : 2019 लोकसभा चुनाव दिल्ली की सत्ता पर काबिज भारतीय जनता पार्टी के लिए तनाव भरा रहने वाला है. बता दें कि अभी हाल ही में भाजपा अपने तीन बड़े राज्य मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान कांग्रेस के हाथों हार चुकी है. अब एक नये सर्वे में भाजपा को आगामी लोकसभा चुनाव में बहुमत से दूर दिखाया गया है.  सर्वे इंडिया टीवी-सीएनएक्स का है. इस ओपिनियन पोल के हिसाब से भाजपा 2019 के लोकसभा चुनाव में अपने 2014 वाले ऐतिहासिक प्रदर्शन से काफी दूर रहेगी. सर्वे की मानें तो भाजपा लोकसभा चुनाव में अपने दम पर बहुमत का आंकड़ा टच नहीं कर पायेगी. भाजपा को बहुमत से लगभग 15 सीटें कम मिलने की संभावना जताई जा रही है.  सर्वे के अनुसार भाजपा और उसके सहयोगियों को मिलाकर सीटों का नंबर 257 तक पहुंच सकता है; वहीं, भाजपा की मुख्य प्रतिद्वंदी पार्टी कांग्रेस और उसकी सहयोगियों को 146 सीटें मिलने का अनुमान सर्वे में लगाया गया है.

जान लें कि विधानसभा चुनावों से पूर्व नवंबर में इंडिया टीवी-सीएनएक्स द्वारा किये गये पहले सर्वे में एनडीए को 281सीटों के साथ बहुमत दिखाया गया था;  जबकि यूपीए 124 और अन्य के हाथ में 138 सीटें जाती हुई दिखाई गयी थीं. तब से अब तक एनडीए में 24 सीटों की कमी हुई है; ताजा सर्वे में यूपीए की सीटों में बढ़ोत्तरी दिखाई पड़ी है.

सरकार बनाने की चाबी अन्य दलों के पास होगी

Related Posts

 नजरबंद उमर अब्दुल्ला हॉलिवुड फिल्में देख रहे हैं, महबूबा मुफ्ती किताबें पढ़ समय बिता रही हैं

जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले आर्टिकल 370 के प्रावधानों को खत्म करने के फैसले से पहले कश्मीर के कई राजनेता नजरबंद किये गये थे.

SMILE

बता दें कि नये सर्वे में यूपीए में समाजवादी पार्टी और बसपा की सीटें शामिल नहीं की गयी हैं. सर्वे 15 से 25 दिसंबर 2018 के बीच किया गया है. जान लें कि सर्वे राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ सहित पांच राज्यों में विधानसभा चुनावों के नतीजों के बाद किया गया है.  शनिवार, पांच जनवरी को सामने आये सर्वे में कहा गया है कि सरकार बनाने की चाबी अन्य दलों के हाथों में हो सकती है, जिन्हें लोकसभा की 543 सीटों में से 140 सीटें मिल सकती हैं. इस अन्य में सपा, बसपा, एआईएडीएमके, तृणमूल कांग्रेस, तेलंगाना राष्ट्र समिति, बीजू जनता दल, वाईएसआर कांग्रेस पार्टी, वाम मोर्चा, महबूबा मुफ्ती की पीडीपी, बदरुद्दीन अजमल की एआईयूडीएफ, आईएनएलडी, असदुद्दीन ओवैसी की एआईएमआईएम शामिल हैं्  साथ ही जेवीएम (पी), तमिलनाडु के एएमएमके और निर्दलीय सांसद भी शामिल है.

राजग में सत्तारूढ़ भाजपा, शिवसेना, अकाली दल, जदयू, मिजो नेशनल फ्रंट, अपना दल, सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट, रामविलास पासवान की लोजपा, मेघालय की एनपीपी, पुदुचेरी की पीएमसीएच, पीएमके और नागालैंड की एनडीपीपी शामिल हैं.   इस क्रम में यूपीए में मुख्य विपक्षी कांग्रेस, राष्ट्रीय जनता दल, डीएमके, टीडीपी, शरद पवार की एनसीपी, देवेगौड़ा की जेडीएस, अजीत सिंह की आरएलडी, नेशनल कांफ्रेंस, आरएसपी, जेएमएम, आईयूएमएल, केरल कांग्रेस (मणि) और आरएलएसपी शामिल हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: