Main SliderNational

भारत ने पृथ्वी-2 मिसाइल का किया परीक्षण, ड्रैगन को मिलेगा जवाब

New Delhi : भारत और चीन के बीच लद्दाख सीमा पर चल रहे तनाव के बीच दोनों ही देशों के बीच मनोवैज्ञानिक युद्ध भी चल रहा है. चीन ने पहले तो लद्दाख में हजारों सैनिकों की तैनाती की. जब भारत से भी उसे वैसा ही जवाब मिला तो अब वह नया मोर्चा खोल रहा है. चीन ने भूटान की सीमा पर डोकलाम के पास में अपने H-6 परमाणु बॉम्बर और क्रूज मिसाइलों की तैनाती की है. चीन ने इन हथियारों की तैनाती अपने गोलमुड एयरबेस पर किया है. यह एयरबेस भारतीय सीमा से मात्र 1,150 किलोमीटर दूर है.

इसे भी पढे़ : केएल राहुल के तूफान में उड़ा बेंगलुरू, 69 गेंदों में बनाये 132 रन

 

चीन के लिए कड़ा संदेश है यह परीक्षण

इसके जवाब में भारत ने भी सुखोई-30एमकेआई, मिराज, मिग 29 सहित राफेल विमानों की तैनाती की है. इसके साथ ही भारत ने परमाणु क्षमता संपन्न पृथ्वी 2 बैलिस्टिक मिसाइल का एक बार फिर से सफल परीक्षण किया है. भारतीय रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) द्वारा तैयार शॉर्ट रेंज बैलिस्टिक मिसाइल (Prithvi short-range ballistic missile) का स्ट्रैटजिक फोर्स कमांड (SFC) ने परीक्षण किया है. यह चीन के लिए संदेश है जिसने हाल ही में डोकलाम में परमाणु बॉम्बर तैनात किया है.

इसे भी पढ़ें :7 साल पहले का गिरिडीह बायपास निर्माण प्रोजेक्ट अब बन चुका है सपना

मिसाइल ने अपने सभी मानकों को पूरा किया

ओडिशा के बालासोर तट से छोड़े गए इस पृथ्वी 2 मिसाइल ने अपने सभी मानकों को पूरे किये. मिसाइल ने परीक्षण के लिए उन सभी लक्ष्यों को भेदे जो परीक्षण के लिए चुने गए थे. यह मिसाइल परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम है. करीब आधा टन वजनी परमाणु बम ढोने में सक्षम यह मिसाइल 150 से 600 किमी तक वार कर सकती है. पृथ्वी सीरीज की तीन मिसाइलें हैं- पृथ्वी I, II और III. इनकी मारक क्षमता क्रमशः 150 किमी, 350 किमी और 600 किमी तक है.

यह मिसाइल चांदीपुर स्थित एकीकृत परीक्षण केंद्र (ITR) से दागी गयी. यह 350 किमी तक के रेंज में लक्ष्यों को ध्वस्त कर सकता है. खास बात यह है कि पृथ्वी श्रेणी की मिसाइलें भारतीय वायुसेना और थल सेना, दोनों ही अपने बेड़ों में शामिल कर चुकी हैं.

इसे भी पढ़ें :कृषि विधेयकों के खिलाफ किसान संगठनों का भारत बंद आज, पंजाब हरियाणा सहित कई राज्यों में होगा असर

 

 

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: