Business

निवेश आकर्षित करने के लिए भारत को अभी और आर्थिक सुधारों की जरूरत: IMF

Washington: अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष ने कहा है कि निवेश आकर्षित करने के लिए भारत को अभी और आर्थिक सुधारों की जरूरत है. कारोबारी माहौल को बेहतर करने और निवेश को प्रोत्साहन के ठोस प्रयासों से भारत को निवेश आकर्षित करने में मदद मिली है, लेकिन ये उपाय पर्याप्त नहीं हैं. आइएमएफ ने यह राय जताई है.

आइएमएफ के मुख्य प्रवक्ता गेरी राइस ने गुरुवार को दिग्गज वैश्विक कंपनियों फेसबुक और गुगल इंक द्वारा भारत में बड़े निवेश की घोषणा संबंधी सवाल पर यह प्रतिक्रिया दी. हाल के समय में कई अंतरराष्ट्रीय कंपनियों ने भारत में 20 अरब डॉलर के प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआइ) की बात कही है. इससे इस साल अब तक भारत को 40 अरब डॉलर का एफडीआइ मिल चुका है.

इसे भी पढ़ेंःसचिन पायलट गुट को फिलहाल हाईकोर्ट से मिली राहत, स्पीकर की नोटिस पर लगाया स्टे

advt

भारत को और आर्थिक सुधार की जरुरत

राइस ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘भारत ने हाल के बरसों में निवेश आकर्षित करने के लिए मजबूत प्रयास किए हैं. कारोबारी वातावरण में सुधार किया गया है और व्यापार में निवेश आकर्षित करने के उपाय किए गए हैं. इनसे निवेश आकर्षित करने में मदद मिली है.’

उन्होंने कहा कि भारत ने दिवाला संहिता, माल एवं सेवा कर जैसे सुधार किए हैं. इससे विश्वबैंक की कारोबार सुगमता रैकिंग में भारत की स्थिति सुधरी है. 2020 में भारत कारोबार सुगमता रैंकिंग में 63वें स्थान पर आ गया है, जबकि 2018 में वह 100वें स्थान पर था. यह उल्लेखनीय सुधार है.

राइस ने कहा कि इसके बावजूद भारत को और आर्थिक सुधारों की जरूरत है. उन्होंने कहा, ‘भारत को श्रम, भूमि आदि के क्षेत्र में और सुधार करने के अलावा अतिरिक्त बुनियादी ढांचा जोड़ने की जरूरत है. हमारे विचार में इन सुधारों के जरिये भारत अधिक निवेश आकर्षित कर सकेगा और समावेशी वृद्धि की राह पर तेजी से आगे बढ़ सकेगा.’

इसे भी पढ़ेंःNIA की पूछताछ में नक्सली सुनील मांझी ने दी कई अहम जानकारियां

adv
advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button