Main SliderNational

संयुक्त राष्ट्र में भारत ने कहा : आतंकवाद, अवैध परमाणु सौदा पाकिस्तान की यहीं उपलब्धियां

विज्ञापन

New Delhi :  पाकिस्तान के द्वारा संयुक्त राष्ट्र में भारत के खिलाफ जहर उगलने के बाद भारत ने भी जवाब दिया है. पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने संयुक्त राष्ट्र के मंच पर कश्मीर का राग अलापा साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ भी टिप्पणी की थी.  भारत ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में जवाब देने के अधिकार का इस्तेमाल करते हुए कहा कि पाकिस्तान के पाकिस्तान के पास पिछले सात दशक में ‘‘बड़ी उपलब्धियों के तौर’’ पर दिखाने के लिए केवल आतंकवाद, अल्पसंख्यक जातीय समूहों का सफाया करना, बहुसंख्यकों की कट्टरता और अवैध परमाणु सौदा है. संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी मिशन के पहले सचिव मिजितो विनितो ने कहा, ‘‘ पाकिस्तान के नेता ने हिंसा और घृणा को भड़काने वालों को प्रतिबंधित करने की मांग की, लेकिन जैसे-जैसे वह आगे बात करते गए, हम यह सोचने पर मजबूर हो गए कि क्या वह अपनी बात कर रहे हैं?’’इमरान खान ने महासभा में उच्च स्तरीय चर्चा के दौरान अपने वीडियो में जम्मू-कश्मीर समेत भारत के आंतरिक मामलों की बात की थी, जिसके बाद भारत ने ‘‘जवाब देने के अपने अधिकार’’ का इस्तेमाल किया. जब खान ने भारत पर हमेशा की तरह ‘‘आरोप लगाने वाला भाषण’’ देना शुरू किया, तो संयुक्त राष्ट्र महासभा के सभाकक्ष में भारत की सीट पर बैठे विनितो ने उसका बहिष्कार कर दिया.

 

पाकिस्तान के पास दिखाने के लिए कुछ नहीं

 

युवा भारतीय राजनयिक ने कहा, ‘‘उस व्यक्ति ने सभागार में लगातार शेखी बघारी, जिसके पास स्वयं कुछ दिखाने को नहीं है, जिसके पास बताने लायक कोई उपलब्धि नहीं है और दुनिया को देने के लिए कोई तर्कसंगत सुझाव नहीं है. इसके बजाए, हमने उसे झूठ, गलत सूचना फैलाते, युद्ध भड़काते और द्वेष फैलाते देखा. विनितो ने एक देश के रूप में पाकिस्तान के इतिहास की निंदा करते हुए कहा, ‘‘इस देश के पास पिछले 70 साल में जो बड़ी उपलब्धियां दिखाने लायक है, वह आतंकवाद, अल्पसंख्यक जातीय समूहों का सफाया करना, बहुसंख्यकों की कट्टरता और अवैध परमाणु सौदे है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान एक ऐसा देश है, जो संयुक्त राष्ट्र द्वारा गैरकानूनी करार दिए गए आतंकवादियों की बड़ी संख्या को आश्रय देता है. उन्होंने आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के संस्थापक हाफिज सईद और जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर का जिक्र करते हुए यह बात की.

इसे भी पढ़ें :IPL : शुरूआती 3 में 2 मैच हारी चेन्नई सुपर किंग्स, कहां चूक रही है धौनी की टीम ?

 

आतंकवादियों को पेंशन देता पाकिस्तान

विनितो ने कहा, ‘‘यह वही देश है, जो खूंखार और सूचीबद्ध आतंकवादियों को सरकारी कोष से पेंशन देता हैं. जिस नेता को आज हमने सुना, वह वही हैं, जिन्होंने आतंकवादी ओसामा बिन लादेन को जुलाई में पाकिस्तानी संसद में ‘‘शहीद’’ कहा था.’ उन्होंने कहा कि यही वह पाकिस्तान है जिसने 39 साल पहले अपने लोगों को ही मारकर दक्षिण एशिया में नरसंहार किया था और यही वह देश है, जिसमें ‘‘इतनी भी शर्म नहीं’’ है कि वह इतने वर्ष बाद भी अपनी भयावहता के लिए ईमानदारी से माफी मांगे. भारत ने ‘जवाब देने अपने अधिकार’ का इस्तेमाल करते हुए कहा कि ‘‘आज जहर उगलने वाले’’ खान ने अमेरिका में 2019 में सबके सामने स्वीकार किया था कि उनके देश में अब भी 30,000 से 40,000 आतंकवादी हैं, जिन्हें पाकिस्तान ने प्रशिक्षण दिया था और जिन्होंने अफगानिस्तान एवं भारत के जम्मू-कश्मीर में आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम दिया.

adv

इसे भी पढ़ें :कर्ज में डूबे अनिल अंबानी ने ब्रिटेन की अदालत में कहा- परिवारवाले उठा रहे उनका खर्च  

अवैध कब्जेवाले इलाकों को खाली करें 

विनितो ने कहा, ‘‘यही वह देश है जिसने ईशनिंदा कानूनों के दुरुपयोग एवं जबरन धर्म परिवर्तन कराकर हिंदुओं, इसाइयों, सिखों और अन्य लोगों समेत अल्पसंख्यकों को व्यवस्थित तरीके से समाप्त कर दिया. उसने कहा, ‘‘यह ऐसा देश है, जो इस्लाम का हिमायती होने का दावा करता है, लेकिन उसने केवल इसलिए अपने साथी मुसलमानों की हत्या को बढ़ावा दिया, क्योंकि वे किसी अन्य समुदाय या पाकिस्तान में किसी अन्य क्षेत्र से संबंध रखते हैं. भारत ने जोर देकर कहा कि जम्मू-कश्मीर उसका ‘‘अभिन्न अंग है, जिसे अलग नहीं किया जा सकता’’ और केंद्रशासित प्रदेश में लाए गए कानून और विधेयक उसका आंतरिक मामला है. उन्होंने कहा, ‘‘कश्मीर में एकमात्र विवाद कश्मीर के उस हिस्से में है, जिस पर पाकिस्तान का अवैध कब्जा है. हम पाकिस्तान से अपील करते हैं कि वह अपने अवैध कब्जे वाले इलाकों को खाली करे.

 

इसे भी पढ़ें :Bihar Election 2020: बोले नीतीश- बिहार की जनता दोबारा मौका देगी तो पूरा करेंगे सात निश्चय 2

 

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button