NationalWorld

भारत-पाक के बीच # NuclearWar हुआ, तो 12.5 करोड़ लोग मारे जायेंगे :  रिपोर्ट

Washington :  भारत और पाकिस्तान के बीच अगर परमाणु युद्ध हुआ तो एक सप्ताह से कम समय के भीतर ही 50 लाख से 12.5 करोड़ लोगों की जान जा सकती है.  यह संख्या छह साल चले दूसरे विश्व युद्ध में मारे गये लोगों की संख्या के मुकाबले बहुत ज्यादा होगी.  इतना ही नहीं, इससे दुनियाभर में जलवायु संबंधी आपदाएं भी आयेंगी. कोलोराडो बोल्डर विश्वविद्यालय और रुतगेर्स विश्वविद्यालय के विश्लेषकों के एक अध्ययन में यह विश्लेषण किया गया है कि अगर भविष्य में ऐसा युद्ध हुआ तो उसकी विभीषिका और कुप्रभाव कैसा तथा क्या होगा.

Jharkhand Rai

भारत और पाकिस्तान के पास फिलहाल 150-150 परमाणु हथियार हैं

जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म किये जाने के बाद दोनों देशों के मध्य बढ़े तनाव के बीच विश्लेषकों ने कहा कि भारत और पाकिस्तान के पास फिलहाल करीब 150-150 परमाणु हथियार हैं और 2025 तक इनकी संख्या बढ़कर दोनों देशों के पास लगभग 200-200 तक हो सकती है. कोलोराडो बोल्डर विश्वविद्यालय में प्रोफेसर ब्रायन टून ने कहा, भारत-पाकिस्तान के बीच युद्ध दुनिया में मृत्यु दर को दोगुना कर सकता है. टून ने कहा, यह ऐसा युद्ध होगा जिसका मानव अनुभव में कोई उदाहरण नहीं होगा. रुतगेर्स विश्वविद्यालय , न्यू ब्रुंसविक के एलन रोबॉक ने कहा, ऐसे युद्ध से सिर्फ उन जगहों को खतरा नहीं होगा जहां बम गिराये जायेंगे, बल्कि पूरी दुनिया को खतरा होगा.

इसे भी पढ़ें : पाक में #EconomicCrisis : डूबती अर्थव्यवस्था बचाने के लिए सेना ने कारोबारियों के साथ बैठक की  

धरती पर पहुंचने वाली सूर्य की रोशनी में 20 से 35 प्रतिशत तक की कमी  

साइंस एडवांस पत्रिका में प्रकाशित इस अध्ययन रिपोर्ट में भारत-पाकिस्तान के बीच परमाणु युद्ध के परिदृश्य पर ध्यान दिया गया है जो 2025 में हो सकता है. अध्ययन में उल्लेख किया गया है कि वैसे तो दोनों देशों के बीच कश्मीर को लेकर कई युद्ध हुए हैं लेकिन 2025 तक उनके पास कुल मिलाकर 400 से 500 परमाणु हथियार होंगे. इसमें कहा गया है कि यदि युद्ध हुआ तो धरती पर पहुंचने वाली सूर्य की रोशनी में 20 से 35 प्रतिशत तक की कमी आयेगी और इस ग्रह का तापमान 2 से 5 डिग्री सेल्सियस तक कम हो जायेगा.

Samford

इसे भी पढ़ें : #Gandhi जिंदा होते तो कश्मीर से #Article370 हटाये जाने के विरोध में निकालते मार्च  : दिग्विजय सिंह   

वर्षा में 15 से 30 प्रतिशत तक की कमी आ सकती है

अध्ययन में कहा गया है कि यह परमाणु युद्ध होने पर पूरी दुनिया में वर्षा में 15 से 30 प्रतिशत तक की कमी आ सकती है जिसके व्यापक क्षेत्रीय प्रभाव होंगे.  इतना ही नहीं धरती पर पेड़-पौधों की संख्या में भी 15 से 30 प्रतिशत तक की कमी आ सकती है और समुद्री जीवन में 5 से 15 प्रतिशत तक की कमी हो सकती है. इसमें कहा गया है कि इस युद्ध के सीधे प्रभाव के चलते एक सप्ताह से कम समय के भीतर ही 50 लाख से 12.5 करोड़ लोगों की जान जा सकती है.  इसके साथ ही इससे दुनियाभर में फैलने वाली भुखमरी जैसे अतिरिक्त कारणों से मृतकों की संख्या और बढ़ सकती है.

इसे भी पढ़ें : #J&K : संचार प्रतिबंध हटाने की मांग को लेकर 100 से ज्यादा #Journalist मूक प्रदर्शन में शामिल हुए

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: