Lead NewsSports

भारत ने ओलंपिक का कोटा गंवाया, पहलवान सुमित डोपिंग टेस्ट में फेल होने के कारण बाहर

वर्ल्ड फेडरेशन ने रेसलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया पर 16 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया

New Delhi : टोक्यो ओलंपिक शुरू होने के पहले ही भारत को तगड़ा झटका लगा है. भारतीय पहलवान सुमित मलिक डोपिंग में फंसने के कारण बाहर हो गए हैं. पिछले महीने बुल्गारिया में आयोजित ओलंपिक क्वालिफाइंग टूर्नामेंट में वे उतरे थे, इस दौरान उनका टेस्ट हुआ था.

इतना ही नहीं वर्ल्ड फेडरेशन ने रेसलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया पर 16 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया है. पिछले ओलंपिक के दौरान भी ऐसा विवाद सामने आया था. नरसिंह यादव डोप में फेल हुए थे. हालांकि उन्होंने इसके लिए सुशील कुमार को जिम्मेदार कहा था.

इसे भी पढ़ें :बंपर सरकारी नौकरी : बिना परीक्षा और इंटरव्यू दिये 3322 पोस्ट पर जॉब करने का सुनहरा मौका

Sanjeevani

वर्ल्ड फेडरेशन 23 जुलाई से पहले कर सकता है सुनवाई

फेडरेशन के सचिव वीएन प्रसूद ने कहा कि सुमित मलिक को सस्पेंड कर दिया गया और उनका ओलंपिक कोटा छिन गया है. अब इस मामले में सुमित को वर्ल्ड फेडरेशन के सामने अपना पक्ष रखना होगा.

हालांकि वे कहते हैं कि सुमित चोटिल थे और उन्होंने कुछ दवाई ली थी. इस कारण वे इस मामले में फंस गए. वर्ल्ड फेडरेशन 23 जुलाई से शुरू होने वाले ओलंपिक से पहले इस मामले की सुनवाई कर सकता है.

इसे भी पढ़ें :Twitter बैकफुट पर, मोहन भागवत सहित RSS नेताओं के अकाउंट का ब्लू टिक बहाल किया

ए और बी सैंपल एक ही होते हैं, अंतर आना मुश्किल

कई बार देखा गया है कि खिलाड़ी के ए और बी सैंपल के रिजल्ट अलग-अलग आए हैं. लेकिन यह कम लोगों का मालूम है कि दोनों सैंपल एक ही होते हैं. यदि खिलाड़ी का यूरिन या ब्लड जांच के लिए लिया जाता है तो उसे दो अलग-अगल जगह रखा जाता है, ताकि यदि कभी खिलाड़ी रिपोर्ट को लेकर सवाल उठाए तो दूसरे सैंपल की जांच की जा सके.

लेकिन सुमित ने खुद दवाई लेने की बात कही है. ऐसे में दूसरे सैंपल में अंतर आना लगभग नामुमकिन है. सुमित 125 किग्रा वेट कैटेगरी में उतरते हैं.

इसे भी पढ़ें :Corona के कारण नहीं हो रही मनरेगा लोकपाल की नियुक्ति, भ्रष्टाचार के बढ़ रहे मामले

नेशनल कैंप के दौरान हुए थे घायल

फेडरेशन के अनुसार 10 जून को सुमित के बी सैंप का परीक्षण किया जाएगा. मलिक घुटने की चोट से जूझ रहे हैं. उन्हें ये चोट ओलंपिक क्वालीफायर शुरू होने से पहले राष्ट्रीय शिविर के दौरान लगी थी. उन्होंने अप्रैल में अल्माटी में एशियाई क्वालीफायर में भाग लिया था, लेकिन कोटा हासिल करने में सफल नहीं हुए.

इसे भी पढ़ें :BJP का तंजः शराब का नियंत्रण निजी हाथों में देकर पोंटी चड्ढा मॉडल स्थापित करने में लगी सरकार

अब 7 पहलवान की जा सकेंगे टोक्यो

सुमित का कोटा छीने जाने के बाद भारत के 7 पहलवान ही ओलंपिक में जा सकेंगे. पुरुष कैटेगरी में रवि कुमार दहिया, बजरंग पूनिया, दीपक पूनिया को कोटा मिला है. महिला कैटेगरी की बात की जाए तो सीमा बिस्ला, विनेश फोगाट, अंशु मलिक और सोनम मलिक ओलिंपिक कोटा हासिल करने में सफल रही हैं.

इसे भी पढ़ें :डीजीपी नीरज सिन्हा पहुंचे चाईबासा, नक्सल विरोधी अभियान को लेकर बनायी रणनीति

Related Articles

Back to top button