न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

भविष्य की जरूरतों के मुताबिक प्रौद्योगिकी नीतियां बनाने में अग्रणी है भारत : महेश पोद्दार

ब्रिक्स पोलिटिकल पार्टीज प्लस डायलॉग के समापन समारोह को सांसद ने किया संबोधित

16

Ranchi: झारखण्ड से राज्यसभा सांसद महेश पोद्दार ने कहा है कि भारत भविष्य की जरूरतों के मुताबिक़ प्रौद्योगिकी नीतियां बनाने में सबसे आगे है. मानव समाज के लिए प्रौद्योगिकी की शक्ति का उपयोग करने के लिए अभिनव तरीके प्रदर्शित कर रहा है. श्री पोद्दार दक्षिण अफ्रीका के प्रिटोरिया में आयोजित ब्रिक्स पोलिटिकल पार्टीज प्लस डायलॉग के समापन समारोह को संबोधित कर रहे थे.

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है भारत

श्री पोद्दार ने कहा कि भारत सरकार विश्व आर्थिक मंच के साथ साझेदारी कर चौथी औद्योगिक क्रांति के माध्यम से नयी ऊंचाई प्राप्त करने को प्रतिबद्ध है. उन्होंने कहा कि क्रांति ब्रिक्स देशों का सामूहिक लाभ बढ़ा सकती है और आर्थिक विकास को बढ़ावा दे सकती है और ब्रिक्स देशों के आर्थिक परिवर्तन को बढ़ावा दे सकती है. समापन समारोह में भाजपा का प्रतिनिधित्व करते हुए श्री पोद्दार ने व्यापार, सरकारों और आम लोगों पर औद्योगिक क्रांति के प्रभाव पर प्रकाश डाला. उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत आर्टिफिशयल इंटेलिजेंस में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है.

चौथी औद्योगिक क्रांति की चुनौतियों पर रखी बात

silk_park

उल्लेखनीय है कि श्री पोद्दार ने दक्षिण अफ्रीका 4 से 6 दिसंबर तक आयोजित ब्रिक्स देशों के राजनीतिक दलों की वार्ता में भाजपा का प्रतिनिधित्व किया. उन्होंने ब्रिक्स देशों के साथ बहुपक्षी संबंधों को कायम रखने और सतत विकास लक्ष्य 2030 के कार्यान्वयन पर एक साथ काम करने की भारत की प्रतिबद्धता की पुष्टि की. श्री महेश पोद्दार ने चौथी औद्योगिक क्रांति की चुनौतियों और अवसरों पर बात की. ब्रिक्स पॉलिटिकल पार्टी प्लस डायलॉग 2018 का एजेंडा “चौथी औद्योगिक क्रांति में समावेशी विकास और बहुपक्षवाद” था. ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका के प्रतिनिधि बहुपक्षी संबंधों को मजबूत करने तथा आर्थिक और राजनीतिक चुनौतियों से निपटने के लिए एक आम और साझा दृष्टिकोण विकसित करने के लिए एक साथ आए.

इसे भी पढ़ें – प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना : किसानों को लाभ कम, बीमा कंपनियों को ज्यादा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: