Business

ईरान से तेल आयात बंद किये जाने पर भारत ने किया प्लान डी तैयार

NewDelhi : ईरान से भारत में सबसे ज्यादा कच्चा तेल आयात करने वाली कंपनी इंडियन ऑयल का कहना है कि उसके पास बैक के लिए प्लान रेडी है. कंपनी का कहना है कि यदि ईरान से पूरी तरह तेल का आयात रुक भी जाता है तब भी कंपनी को किसी प्रकार की परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा. कंपनी के प्रमुख संजीव सिंह ने इस संबंध में एक इंटरव्यू में सऊदी अरब का उल्लेख करते हुए कहा कि वह दुनिया में ईरान पर रोक से होने वाली कमी पूरा करने की क्षमता रखता है. बता दें कि ईरान और अमेरिका में बढ़ते तनाव का असर कई देशों पर पड़ने के आसार है. ईरान दुनिया में बड़ा तेल निर्यातक देश है. ऐसे में अमेरिकी प्रतिबंधों का असर भारत पर भी पड़ेगा.   अमेरिका ने भारत समेत कई देशों से कहा है कि वे ईरान से तेल आयात बंद करें. हालांकि भारत ने अभी तक अपनी स्थिति साफ नहीं की है और ईरान से तेल आयात जारी है.

इसे भी पढ़ेंःLIC-IDBI सौदा : यही हाल रहा तो आप और हम जैसे लोग सालों से की जा रही अपनी बचत से हाथ धो बैठेंगे

ईरान से सप्लाई रुक भी जाती है तब भी भारतीय बाजार में तेल की कमी नहीं होगी

SIP abacus

संजीव सिंह ने कहा कि कच्चे तेल का बाजार काफी बड़ा  है और ऐसा कुछ भी नहीं है जो हम नहीं खरीद सकते. यह तय है कि अगर ईरान से पूरी तरह से सप्लाई रुक भी जाती है तब भी भारतीय बाजार में तेल की कमी नहीं होगी. बताया गया है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की चेतावनी के बाद कई एशियाई देशों ने अपने लिए अन्य तेल निर्यातक देशों से संपर्क साधना शुरू कर दिया है. अमेरिका ने ईरान पर परमाणु कार्यक्रम रोकने का दबाव बनाने के लिए देशों से कहा है कि वे ईरान से तेल का कारोबार नवंबर तक रोक दें. इसके लिए अमेरिका ने चार नवंबर तक की तारीख निश्चित की है. अमेरिका ने यह भी कहा है कि इस तारीख में कोई ढील नहीं दी जायेगी.  कंपनी के वित्त निदेशक एके शर्मा ने मई में ब्लूमबर्ग को बताया था कि पिछले साल की तुलना में इस वित्त वर्ष में तीन मिलियन टन अधिक तेल का आयात किया गया.

Sanjeevani
MDLM

भारत ने ईरान से तेल आयात में 35 फीसदी का इजाफा भी किया  

पिछले वित्त वर्ष में जहां चार मिलिटन का आयात किया गया था वहीं इस बार मार्च तक सात मिलियन टन कच्चे तेल का आयात किया गया. पिछले महीने के तुलना में भारत ने ईरान से तेल आयात में 35 फीसदी का इजाफा भी किया है.  बता दें कि आईओसी के प्रमुख संजीव सिंह ने कहा है कि इस बारे में अपनी योजना का ज्यादा खुलासा नहीं कर सकते, लेकिन हमारे पास प्लान बी, प्लान सी और प्लान डी तक तैयार है. बता दें कि भारत सरकार ने अभी तक अमेरिकी फैसले पर कोई स्पष्ट निर्णय नहीं लिया है बल्कि यह प्रयास किया है कि उसे इन प्रतिबंधों से छूट मिल जाये.

 न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं. 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button