Lead NewsNationalWorld

भारत के पास चीन और पाकिस्तान से कम हैं परमाणु हथियार, जानें हमला हुआ तो कैसे मुकाबला करेगा भारत ?

सिपरी की रिपोर्ट में परमाणु हथियारों की संख्या का हुआ खुलासा

Uday Chandra Singh

New Delhi : भारत के पास चीन और पाकिस्तान के मुकाबले कम परमाणु हथियार हैं. स्टॉकहोम स्थित इंटरनेशनल पीस इंस्टीट्यूट (सिपरी) की ताज़ा रिपोर्ट के मुताबिक चीन के पास अभी 350 परमाणु हथियार हैं जबकि पाकिस्तान के पास 165 हैं. रिपोर्ट में भारत के पास 156 परमाणु हथियार होने का दावा किया गया है.

इस रिपोर्ट के अनुसार दुनिया के नौ परमाणु हथियार संपन्न देशों के पास करीब 13,080 परमाणु हथियार हैं. इनमें रूस के पास 6,225 और अमेरिका के पास 5,550 परमाणु हथियार हैं. फ्रांस के पास 290, ब्रिटेन के पास 225, इजरायल के पास 90, उत्तर कोरिया के पास 40-50 परमाणु हथियार हैं.

ram janam hospital
Catalyst IAS

इसे भी पढ़ें :पंचायत चुनाव : अगले पांच महीने के भीतर पंचायतों में वापस लौटेगी ‘गांव की सरकार’

The Royal’s
Sanjeevani
Pushpanjali
Pitambara

रक्षा जानकारों ने कहा भारत की सैन्य क्षमता

यह रिपोर्ट आपको चिंता में डाल सकती है. विशेषकर चीन और पाकिस्तान के पास मौज़ूद परमाणु हथियारों का जखीरा. दोनों देशों के पास भारत से अधिक परमाणु हथियार हैं. हालांकि रक्षा जानकारों की राय कुछ अलग है. रक्षा जानकारों का मानना है कि अगर परमाणु युद्ध छिड़ा तो भारत चीन और पाकिस्तान दोनों देशों के छक्के छुड़ा सकता है.

इसे भी पढ़ें :रेलवे अधिकारी के घर नाबालिग आदिवासी लड़की से दुष्कर्म, एफआइआर नहीं, कथित आरोपी बर्खास्त

भारतीय सेना की बढ़ रही है ताकत

रक्षा जानकारों के मुताबिक चीन और पाकिस्तान की तुलना में परमाणु हथियारों की संख्या भले ही कम हो लेकिन उसे अपने दुश्मनों को माकूल जवाब देने की अपनी सामरिक एवं सैन्य क्षमता पर पूरा भरोसा है. अग्नि-5 मिसाइल, राफेल लड़ाकू विमान भारतीय सेना में शामिल हो रहे हैं जबकि इस साल न्यूक्लियर पनडुब्बी आईएनएस अरिघाट नौसेना को मिल जाएगी. सेना के उच्च पदस्थ सूत्रों का भी मानना है कि इन सभी से भारत की सैन्य ताकत एवं उसकी मारक क्षमता में कई गुना इजाफा होगा. भारत के पास ‘सेकेंड स्ट्राइक क्षमता’ है जो उसे सामरिक रूप से बढ़त देती है.

इसे भी पढ़ें :सर्च अभियान से पहले ग्राम सभा व पारंपरिक ग्राम प्रधानों से सहमति लें सुरक्षा बलः झाजम

भारत के पास ‘भरोसेमंद सेकेंड स्ट्राइक क्षमताएं’

भारत के पास जमीन से बैलिस्टिक मिसाइल एवं परमाणु चालित पनडुब्बियों से परमाणु हथियार दागने की क्षमता है. भारत के पास ‘भरोसेमंद सेकेंड स्ट्राइक क्षमताएं’ हैं. इससे परमाणु हथियारों की ज्यादा संख्या बहुत मायने नहीं रखती है. भारत का ट्राइ-सर्विस स्ट्रेटेजिक फोर्सेज कमान 5000 किलोमीटर से ज्यादा दूरी तक मार करने वाली अंतरमहाद्विपीय बैलिस्टिक मिसाइल अग्नि-V को सेना में शामिल कर रहा है. इसके शामिल हो जाने के बाद अग्नि-5 की मारक क्षमता के दायरे में पूरा एशिया, चीन, यूरोप एवं अफ्रीका के हिस्से आ जाएंगे. इसी तरह से राफेल लड़ाकू विमान के आने से वायु सेना की ताकत कई गुना बढ़ गई है.

इसे भी पढ़ें : रांची में धुर्वा क्षेत्र को पुलिस छावनी में तब्दील कर लाइट हाउस प्रोजेक्ट का काम शुरू

Related Articles

Back to top button