न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पैरा एशियाई खेलों में 50 पदकों के आंकड़े तक पहुंचा भारत, दीपा मलिक को मिला कांस्य

जबकि बहरीन की फातिमा नेदाम ने 9.87 मीटर के साथ रजत पदक हासिल किया. 

105

Jakarta : रियो परालंपिक की पदक विजेता दीपा मलिक ने एशियाई पैरा खेलों में शुक्रवार को यहां महिलाओं के एफ 51/52/53 चक्का फेंक में कांस्य पदक जीता. दीपा ने अपने चौथे प्रयास में 9.67 मीटर चक्का फेंककर तीसरा स्थान हासिल किया. ईरान की इलनाज दारबियान ने 10.71 मीटर के नये एशियाई रिकार्ड के साथ स्वर्ण पदक जीता जबकि बहरीन की फातिमा नेदाम ने 9.87 मीटर के साथ रजत पदक हासिल किया.

hosp3

एक अन्य भारतीय एकता भयान ने भी इस स्पर्धा में हिस्सा लिया था लेकिन वह चार प्रतिभागियों में 6.52 मीटर चक्का फेंककर चौथे स्थान पर रही. एफ 51/52/53 में एथलीट के हाथों में पूरी ताकत और गति होती है लेकिन उनके पेट के निचले हिस्से की मांसपेशियों में ताकत नहीं होती है। उन्हें व्हील चेयर में बैठकर प्रतिस्पर्धा में भाग लेना होता है.

दीपा ने इससे पहले एफ 53/54 भाला फेंक में भी कांस्य पदक जीता था.

इसे भी पढ़ें : ममता को राहत, दुर्गा पूजा समितियों को दस-दस हजार देने पर सुप्रीम कोर्ट का रोक से इनकार   

50 पदकों का आंकड़ा  

गुरुवार को जकार्ता में जारी पैरा एशियाई खेलों में भारतीय एथलीटों द्वारा बड़ी कामयाबी हासिल की गई. भारतीय एथलीटों द्वारा 13 पदकों पर कब्ज़ा जमाया गया. इन पदकों में 1 स्वर्ण, 4 रजत और 8 कांस्य पदक थे. इस शानदार प्रदर्शन के साथ भारतीय दल 2018 पैरा एशियाई खेलों में 50 पदकों का आंकड़े को छू लिया है. भारतीय पुरुषों ने 35 पदक जीते हैं वहीं महिलाओं ने बेहतर प्रदर्शन कर 15 पदकों पर कब्जा जमाया. भारतीय दल में 190 एथलीट गए थे जो 7 से 13 अक्टूबर तक पदकों के लिए लगातार संघर्ष कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें : # Me Too कैंपेन: बंबई हाईकोर्ट के न्यायाधीश ने किया समर्थन

विश्व रिकार्ड के साथ जीता था सोना

भारत ने एशियाई पैरा खेलों में सोमवार को तीन स्वर्ण पदक सहित कुल 11 पदक जीते जिनमें भाला फेंक के एथलीट संदीप चौधरी ने विश्व रिकार्ड के साथ जीता गया सोने का तमगा भी शामिल है.

इसे भी पढ़ें : # Me Too का असरः हाउसफुल-4 की शूटिंग कैंसल, अक्षय के एतराज के बाद बाहर होंगे साजिद!

संदीप ने पुरूषों की एफ 42 . 44 / 61 . 64 स्पर्धा में पहला स्थान हासिल करके भारत को इन खेलों का पहला स्वर्ण पदक दिलाया.  भारत को दो अन्य स्वर्ण पदक मध्यम दूरी की धाविका राजू रक्षिता (महिलाओं की टी11 1500 मीटर दौड़) और तैराक जाधव सुयेश नारायणन (पुरूषों की एस7 50 मीटर बटरफ्लाई) ने दिलाये.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: