Main SliderNational

भारत-चीन तनावः भारतीय सेना ने पूर्वी लद्दाख सेक्टर में एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम तैनात किया

New Delhi : लद्दाख में एलएसी के पास चीन की सेना के हेलिकॉप्टरों, एयरक्राफ्ट और अन्य तैयारियों को देखते हुए भारत ने भी तैयारियों में इजाफा कर दिया है. भारतीय सेना ने बहुत तेजी से रियेक्ट करनेवाले अपने सतह से हवा में मार करनेवाले मिसाइल सिस्टम की तैनाती पूर्वी लद्दाख सेक्टर में  कर दी है.

सरकारी सूत्रों ने कहा कि इस क्षेत्र में बढ़ते तनाव को देखते हुए भारती सेना और भारतीय वायु सेना ने अपने एयर डिफेंस सिस्टम को तैनात कर दिया है. यह तैयारी चीन के लड़ाकू विमानों की गतिविधयों को देखते हुए किया गया है. सेना का मानना है कि इससे चीनी वायुसेना के किसी भी अभियान का जवाब दिया जा सकेगा.

इसे भी पढ़ें – गुड न्यूज : कोरोना के मरीजों के इलाज के लिए बेहद सस्ती दवा डेक्सामेथासोन को मंजूरी, गंभीर रोगियों पर भी है असरदार

ram janam hospital
Catalyst IAS

एलएसी के पास उड़ान भर रहे हैं चीनी विमान

The Royal’s
Pushpanjali
Pitambara
Sanjeevani

पिछले दो हफ्तों में चीनी वायुसेना के कई लड़ाकू विमानों और हेलिकॉप्टरों की गतिविधियां देखी गयी हैं. उनमें सुखोई-30 औऱ बमवर्षक विमान भी शामिल हैं, जो एलएसी के 10 किलोमीटर के पास उड़ान भरते देखे गये हैं.

सूत्रों ने कहा कि भारत बहुत जल्द अपने एक मित्र राष्ट्र से एक बहुत ही उच्च क्षमता का एयर डिफेंस सिस्टम प्राप्त कर लेगा जो पूरे क्षेत्र में किसी भी तरह की स्थिति से निपटने के लिए सक्षम होगा.

सूत्रों ने कहा कि चीनी हेलिकॉप्टर एलएसी के बहुत पास उड़ान भरते देखे जा रहे हैं. ये दौलत बेग ओल्डी सेक्टर, गलवान घाटी के पेट्रोलिंग प्वाइंट 14, 15, 17 और 17 ए के अलावा पैंगोगं झील, फिंगर एरिया औऱ फिंगर एरिया 3 के पास उड़ान भर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें – 33 करोड़ के को-ऑपरेटिव बैंक घोटाले में सीआइडी ने एक और आरोपी को किया गिरफ्तार

किसी भी विमान को गिरा सकता है आकाश मिसाइल

भारत के पास त्वरित गति से कार्य करनेवाला एयर डिफेंस सिस्टम है. इसका आकाश मिसाइल किसी भी बहुत तेज गति से उड़ रहे विमान या हेलिकॉप्टर को मिशाना बनाने में सक्षम है. इसमें पहले से बहुत ज्यादा विकास किया गया है. साथ ही इसे ऊंचे स्थानों पर तैनात करने लायक भी बना दिया गया है.

इधर भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमान भी लद्दाख सेक्टर में उड़ानें भर रहे हैं. ये विमान बमों और मिसाइलों से तैनात हैं. भारतीय सेना ने निगरानी के स्तर को भी बढ़ा दिया है. दुश्मन देश का कोई भी विमान इसकी नजरों से बच नहीं सकता है. चीन से साथ तनाव बढ़ने के साथ ही भारतीय वायु सेना ने अपने लड़ाकू विमान Su-30MKIs की तैनाती लद्दाख में कर दी थी.

इसे भी पढ़ें – ऋण उपलब्ध कराने वाली कंपनी IFCI का तिमाही घाटा बढ़कर 584 करोड़ रुपये हुआ

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button