न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

#India केवल पांच साल में 2,000 अरब डॉलर से 3,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था वाला देश बना: राजदूत

492

Washington: अमेरिका में भारत के राजदूत हर्ष वर्धन श्रृंगला ने कहा कि भारत को 2,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था से 3,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने में केवल पांच साल लगे. उन्होंने भरोसा जताया कि देश आने वाले वर्षों में 5,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनेगा.

उन्होंने कहा कि वर्ष 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कार्यभार संभाला, उस समय भारतीय अर्थव्यवस्था दुनिया में 11वीं बड़ी अर्थव्यवस्था थी. पांच साल में भारत पांचवीं या छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाला देश बन गया.

Sport House

श्रृंगला ने सेंट्रल पेन्सिलवेनिया के एशियाई-भारतीय अमेरिकियों के सालाना कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘यह प्रधानमंत्री के नेतृत्व और राजनीतिक स्थिरता का परिणाम है.’’

इसे भी पढ़ें : कोयलांचल के 11 में 8 विधानसभा सीटों पर #BJP को मिल रही है Big Fight, जाने कहां क्या है हाल

दुनिया में सबसे उत्पादक कार्यबल हमारे पास होगा

उन्होंने कहा, ‘‘आजादी के करीब 60 साल बाद देश 1,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बन सका. उसके बाद 2,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने में 12 साल लगे. वहीं 3,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने में केवल पांच साल (2014-19) लगा.’’

Vision House 17/01/2020

राजदूत ने कहा कि प्रधानमंत्री ने 2024 तक भारत को 5,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने का लक्ष्य रखा है. इसका मतलब है कि अगले पांच साल में अर्थव्यवस्था के आकार में 2,000 अरब डॉलर का इजाफा.

उन्होंने यह भी कहा, ‘‘जल्दी ही हमारे पास दुनिया में सबसे उत्पादक कार्यबल होगा.’’

SP Deoghar

श्रृंगला ने कहा कि भारत मात्र तीसरा देश है जिसने मंगल पर उपग्रह भेजा और मिशन पर काम करने वाले वैज्ञानिकों की औसत आयु 29 साल थी.

इसे भी पढ़ें : #Jharkhand Election : तीसरे चरण में रांची संसदीय सीट है हॉट, सीटिंग सीटों को बचाना गठबंधन के लिए बड़ी चुनौती

दुनिया के देशों से मजबूत संबंध

उन्होंने कहा कि भारत ने दुनिया के देशों के साथ मजबूत संबंध विकसित किया है. भारत ने अपने पड़ोसी देशों के साथ रिश्तों को मजबूत बनाने के लिये हाथ बढ़ाया है.

राजदूत ने कहा कि भारत-अमेरिका के बीच मजबूत संबंध इसका उदाहरण है.

उन्होंने कहा कि पिछले पिछले 10-15 साल में संबंध बहु-आयामी और व्यापक हुए हैं. अमेरिका आज भारत का न केवल सबसे बड़ा व्यापार भागीदार है बल्कि दोनों देशों के लोगों के बीच बेहतर रिश्ते हैं.

श्रृंगला ने कहा कि इस संबंध को मजबूत बनाने में भारतीय-अमेरिकियों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभायी है.

इसे भी पढ़ें : 3.5 करोड़ रूपये की फर्जी निकासी करने वाले इंजीनियर JBVNL में स्वतंत्र, कुछ तो प्रमोशन से बने अधिकारी

Mayfair 2-1-2020

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like