न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

भारत ने गलती से अपने ही हेलिकॉप्टर को मार गिराया था?

357

New Delhi: इंडियन एयर फोर्स का Mi17V5 हेलिकॉप्टर 27 फरवरी को श्रीनगर के नजदीक हासदे का शिकार हो गया था. हादसे में हेलिकॉप्टर पर सवार सभी 6 एयर फोर्स पर्सनल और जमीन पर एक आम नागरिक की मौत हो गई थी. संयोग से उसी दिन पाकिस्तानी एयर फोर्स ने भारतीय सैन्य प्रतिष्ठानों को निशाना बनाने की नाकाम कोशिश की थी. हादसे के करीब एक महीने बाद इकनॉमिक टाइम्स की एक रिर्पोट से ऐसे संकेत मिलते हैं कि हेलिकॉप्टर संभवतः भारत द्वारा दागी गई मिसाइल से गिरा था.

इसे भी पढ़ें – चाय के कप पर “मैं भी चौकीदार” लिखना आचार संहिता का उल्लंघन, तो वीसी का “ईमानदार चौकीदार बनें” कहना कितना सही!

हादसे की टाइमिंग

hosp3

एलओसी पर इंडियन एयर फोर्स के जेट पाकिस्तान के लड़ाकू विमानों को खदेड़ रहे थे और एयर डिफेंस सिस्टम पूरी तरह ऑपरेशनल अलर्ट पर था. इसके 10 मिनट के भीतर ही हेलिकॉप्टर क्रैश हो गया. उस वक्त एयर फोर्स का कमांड और कंट्रोल सिस्टम ‘युद्ध जैसी स्थिति’ की वजह से बहुत दबाव में था.

इसे भी पढ़ें – पुलिस की सख्ती के बाद भी नहीं राजधानी रांची में नहीं रुक रहा ‘सफेद जहर’ का कारोबार

रहस्य

पाकिस्तानी सेना ने अपने आधिकारिक बयान में कहा था कि भारतीय हेलिकॉप्टर गिरने के पीछे उसका कोई हाथ नहीं था. हालांकि, पाकिस्तान ने नौशेरा सेक्टर के पास दोनों देशों के बीच हवा में संघर्ष की बात कबूल की थी. Mi17V5 को दुनिया के अति आधुनिक चॉपर्स में से माना जाता है, जो आम तौर पर घातक तकनीकी दिक्कतों का शिकार नहीं होता. चश्मदीदों ने बताया था कि हादसे से पहले उन्होंने हवा में एक तेज धमाके की आवाज सुनी थी. इससे संकेत मिलते हैं कि हेलिकॉप्टर हादसे के लिए कोई तकनीकी वजह नहीं बल्कि कोई बाहरी वजह जिम्मेदार थी. इंडियन एयर फोर्स भी हेलिकॉप्टर हादसे की कड़ी दर कड़ी जांच कर रही है.

इसे भी पढ़ें – जगरनाथ महतो का गिरिडीह लोकसभा से जेएमएम का उम्मीदवार बनना तय, दो दिनों के बाद औपचारिक घोषणा

वजह?

जांच में पता चला है कि हेलिकॉप्टर हादसे से ठीक पहले एक इंडियन एयर डिफेंस मिसाइल दागी गई थी. दरअसल, 27 फरवरी को एयर डिफेंस सिस्टम ने सीमा के नजदीक पाकिस्तानी एयर फोर्स के 25 जेट को डिटेक्ट किया था, जिसके बाद मिसाइल को ऐक्टिवेट किया गया था. माना जा रहा है कि वह इजरायली मिसाइल थी. अगर अंतिम जांच रिपोर्ट में भी गलती से अपने ही हेलिकॉप्टर को निशाना बनाने की बात सामने आती है तो एयर डिफेंस सिस्टम में सुधार की दरकार होती है.

(साभारः एनबीटी)

इसे भी पढ़ें – छटपटा रहा विपक्ष, क्योंकि पूरा देश मोदी को दोबारा पीएम बनाने में लगाः सीपी सिंह

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: