Crime NewsJharkhandLead NewsNEWSRanchiTOP SLIDER

झारखंड पुलिसकर्मियों में आत्महत्या करने की बढ़ रही प्रवृति, नहीं उठाए जा रहे ठोस कदम

Dheeraj Kumar

Ranchi : झारखंड पुलिस कर्मियों में आत्महत्या करने की प्रवृतियां लगातार बढ़ रही है. हाल के दिनों में झारखंड के अलग-अलग जिलों में कई पुलिसकर्मी आत्महत्या किए हैं. ताजा मामला कल लोहरदगा जिले की है जहां ड्यूटी में तैनात पुलिस आशुतोष कुमार ने अपने रिवाल्वर से गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी. इस आत्महत्या की घटना के बाद से पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया. हालांकि इस मामले को लेकर पुलिस मामले की तहकीकात कर रही है लेकिन आत्महत्या करने के पीछे की सही जानकारी अब तक सामने नहीं आ पाई है.

झारखंड में कई ऐसे पुलिसकर्मी है जो काफी तनाव में ड्यूटी करने को मजबूर हैं. जिसके वजह से पुलिसकर्मी आत्महत्या करने के लिए मजबूर हो रहे हैं. कई पुलिसकर्मी खुद के सर्विस रिवाल्वर से गोली मारकर आत्महत्या कर रहे हैं तो कुछ फांसी के फंदे पर झूल रहे हैं. आत्महत्या की प्रवृतियां बढ़ने के बावजूद झारखंड के पुलिस वरीय पदाधिकारी इस मामले को लेकर अब तक कोई ठोस कदम नहीं उठा पा रहे हैं. पुलिस विभाग के अधिकारियों और पुलिसकर्मियों पर मानसिक और पारिवारिक तनाव इस कदर हावी है कि वे अपनी जान लेने से भी पीछे नहीं हट रहे हैं.

Sanjeevani

पिछले एक साल के दौरान झारखंड में एक के बाद एक कई पुलिसकर्मियों ने आत्महत्या किये हैं. पुलिसकर्मियों द्वारा की गयी आत्महत्या के आंकड़ों पर गौर करें तो इसकी मुख्य वजह, परिवारिक विवाद, मानसिक तनाव और प्रेम प्रसंग को माना जा सकता है. क्योंकि कई ऐसे मामले सामने आये, जिनमें काम के दवाब औऱ प्रेम में असफल होने की बात सामने आयी है.

हाल के दिनों में आत्महत्या की घटनाएं

केस 1– 10 जनवरी 2022 को पलामू  के नावाबाजार थाना से निलंबित दरोगा लालजी यादव ने पंखे से लटक कर खुदकुशी कर ली.

 

केस 2– 17 जनवरी 2021 को रांची के बुढ़मू थाने में तैनात सिपाही ने गोली मारकर खुदकुशी कर ली थी. रात में ड्यूटी पर तैनात था. इसी दौरान उसने अपने ही हथियार से खुद को गोली मार ली थी.

 

केस 3– 5 मई 2021 को साहेबगंज महिला थाना प्रभारी रूपा तिर्की का शव उनके सरकारी आवास पर फंदे से लटका मिला था. हलांकि य़ह मामला काफी विवादों में रहा था.

 

केस 4– 14 अप्रैल 2020 को जमशेदपुर के गुड़ाबांदा थाने के एसआइ पूर्ण चंद्र मुंडा ने बैरक में अपने साथी हरि कुंवर मुंडा की एके-47 से खुद पर दो राउंड गोली चला दी थी और घायल हो गये थे.

 

केस 5– 10 जुलाई 2020 को जमशेदपुर जिले के गोलमुरी पुलिस लाइन के फ्लैट में रहनेवाले सहायक सब इंस्पेक्टर तरुण पांडेय ने सर्विस रिवाल्वर से सिर में गोली मार कर आत्महत्या कर ली.

क्या कहते हैं पुलिस अधिकारी

लोहरदगा में शुक्रवार को हुए जवान आशुतोष के खुदकुशी की घटना को लेकर एसपी आर. राजकुमार ने न्यूजविंग से बात करते हुए कहा कि शुरूआती जांच में यह घटना खुदकुशी ही है. लेकिन बावजूद इसके परिजनों व अन्य साथी जवानों से भी बात की जा रही है ताकि घटना के मूल कारणों का पता लगाया जा सके.एसपी ने ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए जल्दी ही इस दिशा में ठोस पहल किए जाने की भी बात कही. वहीं पुलिसकर्मियों में बढ़ती आत्महत्या की प्रवृति से पुलिस के वरीय अधिकारी भी चिंतित हैं. रांची रेंज के डीआईजी अनीश गुप्ता ने भी कहा कि ड्यूटी व घरेलू समस्याओं को लेकर आए दिन पुलिस जवानों के तनाव में होने की स्थिति की जानकारी सामने आती रहती है ऐसे में पुलिस मुख्यालय के द्वारा लेटर जारी किया गया था कि वैसे पुलिसकर्मी जो तनाव से ग्रसित हैं उनकी काउंसलिंग कर उनकी इस समस्या का हल किया जाएगा. फिलहाल इस पूरे मामले को लेकर मुख्यालय की ओर से पहल की जा रही है कि आने वाले दिनों में पुलिसकर्मी आत्महत्या ना करें.

इसे भी पढ़ें: माओवादी संगठन ने दी स्वतंत्रता दिवस के बहिष्कार की धमकी

Related Articles

Back to top button