न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पूंजीवाद के कारण भुखमरी, बेरोजगारी, असमानता बढ़ीः करात

कार्ल मार्क्स की 200वीं जयंती पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए प्रकाश करात

245

Ranchi: पूंजीवाद के अंत से ही समाज का उत्थान संभव है. मानव समाज के विकास के लिए जरूरी है कि पूंजीवाद का अंत किया जाये. उक्त बातें मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के पोलित ब्यूरो सदस्य प्रकाश करात ने कहीं. वह जमशेदपुर में आयोजित कार्ल मार्क्स की 200 वीं जयंती में शामिल हुए. उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में समझा जाता है कि कार्ल मार्क्स की प्रासंगिकता खत्म हो गई है. लेकिन पूंजीवाद के कारण जो भुखमरी, बेरोजगारी, असमानता बढ़ती जा रही है, उससे हर तरफ असंतोष देखा जा रहा है. साथ ही प्राकृतिक संसाधन लुटते जा रहे हैं. इस ओर कोई ध्यान लहीं देता. करात ने कहा कि असमानता ने लोगों के सामने एक बड़ी खाई पैदा कर दी है. उन्होंने समाजिक परिवर्तन सिद्धांत और शोषण मुक्त समाज की स्थापना पर बल दिया.

पूंजीपति देश को नियंत्रित करते हैं

कार्यक्रम के दौरान श्री करात ने कहा कि हमारे देश में नौ अरबपति देश की 50 प्रतिशत संपत्ति पर अधिकार कर बैठे हैं. ऐसी पूंजी उत्पादन के लिए नहीं बल्कि सत्ता के लिए आती है. उन्होंने कहा कि ऐसे पूंजीपति किसी का नियंत्रण नहीं मानते और ये देश को नियंत्रित करना चाहते हैं. जैसा कई देशों में देखा जा रहा है. हमारे देश में भी इनकी दखल बढ़ रही है.

एयरपोर्ट पर कार्यकर्ताओं ने किया स्वागत

श्री करात दिन के करीब 11 बजे बिरसा मुंडा एयरपोर्ट पहुंचे. जहां पार्टी कार्यकर्ताओं ने उनका स्वागत किया. पार्टी कार्यकर्ताओं से मिलने के बाद वे सड़क मार्ग से जमशेदपुर के लिए रवाना हुए. जहां वे कार्ल मार्क्स की 200 वीं जयंती पर आयोजित कार्यक्रम में उपस्थित हुए. सड़क मार्ग से जमशेदपुर जाने के क्रम में उन्होंने बुंडू में भगवान बिरसा मुंडा और पार्टी कार्यकर्ता लक्ष्मीकांत स्वांसी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया.

इसे भी पढ़ें – अजीत डोभाल के बेटे ने ‘कारवां’ पत्रिका पर किया फौजदारी मानहानि का दावा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: