न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जीवीएल पर जूता फेंकने वाले शक्ति  पर आयकर विभाग ने डाली थी रेड,  11.5 करोड़ में खरीदे थे तीन बंगले

शक्ति भार्गव बेनामी संपत्ति और अघोषित आय से जुड़ी आयकर विभाग की जांच का सामना कर रहा है. जानकारी के अनुसार शक्ति भार्गव ने तीन बंगले खरीदे थे

61

NewDelhi : दिल्ली के भाजपा मुख्यालय में  गुरुवार दोपहर आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में पार्टी प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा पर एक शख्स ने जूता फेंक दिया.  जूता फेंकने वाले को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है.  जानकारी के अनुसार जूता फेकने वाला शख्स कानपुर का रहने वाला है.  उसके पास से एक विजिटिंग कार्ड बरामद किया गया है,  जिसमें शक्ति भार्गव लिखा  हुआ है. घटना के समय यह शख्स पत्रकारों के बैठने वाली जगह पर पहली कतार में  बैठा हुआ था.  जिस समय जीवीएल पत्रकारों को संबोधित कर रहे थे, तभी अचानक भार्गव ने  जीवीएल की ओर जूता फेंक दिया.

हालांकि जूता जीवीएल को नहीं लगा.  बताया गया कि जिस समय जीवीएल साध्वी प्रज्ञा ठाकुर का जिक्र कर रहे थे, तभी यह शख्स उठा और उसने जीवीएल की ओर जूता चला दिया.  इस घटना के बाद अफरा तफरी मच गयी.  वहां मौजूद लोगों ने उसे पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया . पुलिस ने उससे स्टेट थाने में पूछताछ की.

इसे भी पढ़ेंः  बोले राहुल, झूठे वादे सुनने हैं तो मोदी की रैली में जाओ, मेरी रैली में सच मिलेगा
hosp3

शक्ति भार्गव के ठिकानों से 28 लाख  कैश और 50 लाख की ज्वैलरी बरामद

जीवीएल नरसिम्हा पर जूता फेंकने वाले शक्ति भार्गव के बारे में चौंकाने वाली जानकारी सामने आयी है. खबर है कि शक्ति भार्गव बेनामी संपत्ति और अघोषित आय से जुड़ी आयकर विभाग की जांच का सामना कर रहा है. जानकारी के अनुसार शक्ति भार्गव ने तीन बंगले खरीदे थे, जिसके लिए उसने अपने खाते से 11.5 करोड़ रुपये का भुगतान किया था. ये बंगले शक्ति भार्गव ने अपनी पत्नी, बच्चे व रिश्तेदार के नाम पर खरीदे थे.

आयकर विभाग सूत्रों के अनुसार 2018 में तीन दिन चले सर्च ऑपरेशन के दौरान शक्ति भार्गव के ठिकानों से 28 लाख रुपये कैश और 50 लाख रुपये कीमत की ज्वैलरी बरामद हुई थी. पूछताछ में शक्ति भार्गव 10 करोड़ से ज्यादा रकम की कमाई का स्त्रोत भी नहीं बता पाया था.

इसे भी पढ़ेंः आईएएस अधिकारी मोहसिन को चुनाव आयोग ने किया सस्पेंड, पीएम मोदी के हेलीकॉप्टर की तलाशी ली थी

परिजनों ने ही उनके खिलाफ प्रताड़ना का केस दर्ज कराया था

20 नवंबर 2018 को सीबीआई ने ब्रिटिश इंडिया कॉर्पोरेशन लिमिटेड के तत्कालीन सीएमडी समेत अन्य अधिकारियों के खिलाफ वित्तीय अनियमितताओं के आरोप में केस दर्ज किया था. इसके बाद दिसबंर 2018 में शक्ति भार्गव के ठिकानों पर आयकर विभाग ने रेड की थी. शक्ति भार्गव खुद को BICL केस में व्हिसल ब्लोअर बताते थे. जांच में शक्ति भार्गव की कई कंपनियों के बारे में भी पता चला था. आयकर विभाग को जांच में पता चला था कि भार्गव से जुड़ीआठ कंपनियों की जानकारी आयकर विभाग या दूसरी किसी सरकारी एजेंसी को नहीं दी गयी थी.

यानी गुपचुप तरीके से ऐसी कंपनियां चलाई जा रही थीं, जिनका संबंध शक्ति भार्गव से था.  शक्ति भार्गव ने जो तीन बंगले खरीदे थे, उस संबंध में भार्गव के परिजनों ने ही उनके खिलाफ प्रताड़ना का केस दर्ज कराया था.  शक्ति भार्गव ने सुप्रीम कोर्ट में केंद्र सरकार के खिलाफ एक याचिका भी दायर की थी, जिसे रद्द करते हुए कोर्ट ने सीबीआई को शक्ति भार्गव के खिलाफ केस दर्ज कर जांच करने के आदेश दिये थे.

इसे भी पढ़ेंःदंतेवाड़ाः विधायक भीमा मंडावी की हत्या में शामिल वर्गीस समेत दो नक्सली ढेर

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

hosp22
You might also like
%d bloggers like this: