JharkhandRanchi

शहर में बढ़ रही है आत्महत्या की घटनाएं, पढ़ायी का दबाव, प्रेम प्रसंग और विवाद बन रहा कारण

Ranchi: राजधानी में आत्महत्या के मामलों में अचानक बढ़ोतरी देखने को मिली है. खासकर लॉकडाउन के बाद से इस तरह के ज्यादा मामले सामने आये हैं. लेकिन अब लॉकडाउन के खत्म होने के बाद भी आत्महत्या की घटनाएं रूकने का नाम नहीं ले रही है. लोग नाकामी, मानसिक तनाव, घरेलू विवाद, पारिवारिक बोझ, काम का दबाव, प्रेम-प्रसंग और पढ़ाई की चिंता से ज्यादा परेशान होकर ऐसे कदम उठा रहे हैं. अपनी जान देने जैसे कदम भा लोग मिनटों में बिना कुछ सोचे-समझे उठा ले रहे हैं. मानसिक दबाव में युवा अपना जीवन ही समाप्त कर ले रहे हैं. आत्महत्या के ज्यादातर मामलों में प्रेम-प्रसंग, पढ़ाई का बोझ, दफ्तरों में काम का बोझ और पारिवारिक विवाद मुख्य हैं. आत्महत्या करने वालों में 60 प्रतिशत की उम्र 14 वर्ष से 40 के बीच की है.

किसी व्यक्ति को आत्महत्या के लिए प्रेरित करना भी अपराध

अगर कोई व्यक्ति किसी को आत्महत्या करने के लिए प्रेरित करता है, तो यह भी एक दंडनीय अपराध है. ऐसा मामला सामने आने पर पुलिस हत्या करने के लिए उकसाने वाले के खिलाफ धारा 306 के तहत कार्रवाई करती है. इसके अलावा आत्महत्या का प्रयास भी अपराध की श्रेणी में आता है, लेकिन इस कानून में संशोधन किए गये हैं. आत्महत्या की घटनाएं होने के बाद ज्यादातर मामले में यूडी केस दर्ज कर मामले को छोड़ दिया जाता है. पुलिस इस बात का पता लगाने का प्रयास नहीं करती है कि कहीं उसे आत्महत्या करने के लिए उकसाया तो नहीं गया. पुलिस मृतक के परिजनों द्वारा बताए गये बयान के आधार पर मामला दर्ज कर उसे आत्महत्या मान कर छोड़ देती है.

हाल के दिनों में आत्महत्या के प्रमुख मामले

-23 जनवरी 2021 को राजधानी रांची के अरगोड़ा स्थित बुध विहार कालोनी निवासी दसवीं कक्षा के छात्र ने फंदे से झूलकर जान दे दी थी. उसने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा था जिसमें उसने बताया था कि वो एक कलाकार बनना चाहता था लेकिन परिवार वाले उसे इंजीनियर बनाना चाहते थे. जिसको लेकर वह काफी तनाव में था.

-20 दिसंबर 2020 को चुटिया थाना क्षेत्र में आपसी विवाद में झगड़ा होने के बाद महिला ने आत्महत्या कर ली थी.

-30 नवंबर 2020 को राजधानी रांची के लालपुर थाना क्षेत्र की छात्रा अंजलि पढ़ाई के दबाव में आकर आत्महत्या कर ली थी.

-ताजा मामला दो दिन पहले का है. जब अजीत नाम के एक छात्र ने किकेट मैच में पैसे हारने के बाद, शराब पी और उसके बाद तालाब में डूबकर अपनी जान दे दी.

Related Articles

Back to top button