JamshedpurJharkhand

इंकैब के पुनरुद्धार की पहल की सार्थकता तभी जब परिसंपत्तियों और दायित्वों का ब्योरा सार्वजनिक हो : सरयू राय

Jamshedpur : जमशेदपुर पूर्वी के विधायक सरयू राय ने कहा है कि इंकैब के वर्तमान रिज्युलेशन प्रोफेशनल इसकी परिसंपत्तियों और दायित्वों का विवरण एनसीएलटी, कोलकाता बेंच के सामने रखें और इसे सार्वजनिक करें. राय ने केबुल कंपनी के पुनरूद्धार में टाटा स्टील और वेदांता द्वारा दिलचसस्पी दिखाये जाने का स्वागत किया है, लेकिन साथ ही कहा है कि इसे एक गंभीर पहल के रूप में सामने आना चाहिए. इंकैब की परिसंपत्तियों और दायित्वों का विवरण सार्वजनिक होगा, तभी इसके पुनरूद्धार की पहल सार्थक रूप ले सकेगी.

इसे भी पढ़ें – भुइयांडीह फायरिंग में जख्मी सिकंदर का ऑपरेशन कर निकाली गई गोली, हालत स्थिर

पूर्व मंत्री ने कहा है कि इंकैब के ऊपर बैंकों एवं अन्य वित्तीय संस्थानों का कर्ज भी सार्वजनिक होना चाहिए. यह स्पष्ट होना चाहिए कि इंकैब पर कर्ज की राशि इनके पूर्व प्रमोटरों के अनुसार 2 हजार करोड़ के ऊपर और दिल्ली उच्च न्यायालय के अनुसार 21.36 करोड़ रुपये है. ऐसा नहीं हो कि ये इसे बढ़ा कर दिखायें और इसकी परिसंपत्तियों के बराबर दिखायें नहीं, तो श्रमिकों के साथ भीतरघात हो जायेगा. विश्वसनीय सूत्रों के अनुसार इंकैब पर श्रमिकों का बकाया 200 करोड़ से अधिक स्वीकार किया गया है. इस मूलधन की राशि पर सूद जोड़ दिया जाय तो यह 4 सौ करोड़ से ऊपर हो जाएगा. श्रमिकों के हित सधे और उनके बकाया का भुगतान हो सके यह मेरी प्राथमिकता है. सरयू राय ने कहा है कि रिज्युलेशन प्रोफेशनल को बताना चाहिए कि इसके वास्तविक प्रमोटर ‘लीगल यूनिवर्सल’ के शेयर कहां गये और किसको गये. इसके द्वारा नियुक्त 3 प्रबंधकों की स्थिति क्या है और कंपनी के संदर्भ में घमंडी राम गोवानी की स्थिति फिलहाल क्या है. सरयू राय ने कहा है कि मैंने पहले भी झारखंड सरकार से कहा है और आगे भी कहूंगा कि इंकैब की परिसंपत्तियों की लूट और चोरी करने वालों पर सख्ती हो. इंकैब श्रमिक यूनियन ने इस बारे में गोलमुरी थाना में 6 माह से अधिक समय पूर्व एक प्राथमिकी दर्ज किया था, जिसकी जांच नहीं कर जमशेदपुर पुलिस ने उसे सनहा में बदल दिया. सरय राय ने कहा है कि वे डीजीपी से इसे सीआईडी की आर्थिक अपराध अनुसंधान शाखा को जांच के लिए कहेंगे.

advt

इसे भी पढ़ें – जुबली पार्क पर बन्ना-बीजेपी के सुर मिले, अभय सिंह के मुकाबले उतरी मंत्री की फौज

 

 

 

 

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: