न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जिस क्षेत्र में भी हेमंत जा रहे हैं, उन्हें वह दिखता है अविकसित: शिवशंकर उरांव

41

Ranchi: अपनी “जन संघर्ष यात्रा” के राज्यव्यापी दौरे को लेकर गुमला पहुंच झामुमो कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन के दिये बयान को गुमला विधायक शिवशंकर उरांव ने बचकाना करार दिया है. उन्होंने कहा कि अपनी यात्रा के दौरान हेमंत सोरेन जिस क्षेत्र में जा रहे हैंं, उन्हें वहीं क्षेत्र अविकसित दिखाई देती है. जबकि हकीकत यही है कि गुमला के विकास से क्षेत्र की जनता पूरी तरह वाकिफ हैं. लोहरदगा सांसद और केंद्रीय मंत्री सुदर्शन भगत ने कहा है कि चूंकि हेमंत सोरेन विपक्ष के नेता हैं, तो उन्हें विकास के नजरिये से ही गुमला की स्थिति को देखना चाहिए. हकीकत यह है कि रघुवर सरकार के नेतृत्व में जिले का बेहतर विकास हुआ है.

इसे भी पढ़ेंःजानिए पाकुड़ के नक्सली कुणाल मुर्मू एनकाउंटर का पूरा सच, जिसपर अब डीसी उठा रहे हैं सवाल

जेएमएम की सरकार बनी, तो गुमला बनेगा बेहतर जिला

मालूम हो कि सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर पर किये अपने एक ट्वीट में हेमंत सोरेन ने जिले की गिरती स्थिति को लेकर भाजपा सरकार पर निशाना साधा था. उन्होंने कहा था कि भाजपा सरकार में गुमला विकास के हर मानक पर सबसे फिसड्डी साबित हुआ है. स्वास्थ्य, बिजली, सड़क, शिक्षा सभी में यह जिला काफी पीछे है. देश के सबसे पिछड़े 115 जिलों में 107 वें स्थान पर है. जिले की 74 प्रतिशत मातायें एवं बच्चे अनिमिक (कुपोषण का एक रूप) से ग्रसित है. जिले में बिजली केवल 6 से 7 घंटे ही रहती है. उन्होंने कहा था कि अगर राज्य में जेएमएम की सरकार बनती है, तो पार्टी एक बेहतर गुमला का निर्माण करेगी.

इसे भी पढ़ें: अस्थाना को दिल्ली हाईकोर्ट से राहतः गिरफ्तारी पर रोक, 14 नवंबर को अगली सुनवाई

भाजपा सरकार के विकास को समझती है जनता: शिवशंकर उरांव

जेएमएम कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन के दिये बयान को बचकाना बताते हुए गुमला विधायक शिवशंकर उरांव ने कहा कि गुमला में जिस तरह से सड़क, पुल जैसी बुनियादी सुविधाओं का विकास हुआ है, क्षेत्र की जनता इससे पूरी तरह वाकिफ है. वह जानती है कि हेमंत सोरेन झूठ बोल रहे हैं. उनके बयान से यहां जेएमएम का कुछ होना नहीं है. दरअसल अपने जन संघर्ष यात्रा को लेकर वे जहां जाते है, उन्हें वहीं इलाका अविकसित दिखाई देता है.

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के चार सालों का आकलन करें, तो यह स्पष्ट है कि गुमला जिले में रघुवर सरकार ने बेहतर काम किया है. जनता भी इस बात को महसूस करती है. राजनीतिक दल के नेताओं का क्या है, उनकी तो अपनी राजनीतिक हित के लिए केवल बयान देनी पड़ती है. हालांकि जहां तक बिजली, पानी, सड़क की बात है, यह तो लोगों के बुनियादी विषय है. इसे प्रतिदिन अपग्रेड करने की जरूरत है. अगर राज्य में पूर्ववर्ती हेमंत सरकार और भाजपा सरकार के बीच तुलनात्मक दृष्टि से देखा जाये, तो विकास की नीति के अऩुरूप ही भाजपा जिले के विकास कार्य को अंजाम दे रही है.

इसे भी पढ़ें: पलामू: ‘ग्लोबल एग्रीकल्चर फूड समिट 2018’ की सफलता के लिए कार्यशाला आयोजित

विकास के नजरिये से गुमला का विकास देखे हेमंत:  सुदर्शन भगत

सुदर्शन भगत

हेमंत सोरेन के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए लोहरदगा सांसद और केंद्रीय मंत्री सुदर्शन भगत ने कहा कि भाजपा के पहले भी राज्य में हेमंत सोरेन की सरकार रह चुकी है. ऐसे में तो उनसे पहले यह सवाल पूछना चाहिये, कि उनकी कार्यकाल में गुमला जिले की किस तरह की विकास की गयी. उन्होंने कहा कि आज केंद्र और राज्य में भाजपा की सरकार है. इसी सरकार के कामों से जिले के सड़क, पानी, स्वास्थ्य जैसी बुनियादी सुविधाओं की स्थिति में बेहतर सुधार आया है. रघुवर सरकार का तो गुमला जिले पर विशेष ध्यान है. जेएमएम अध्यक्ष हेमंत सोरेन चूंकि विपक्ष के नेता हैं, तो उन्हें विकास के नजरिये से ही गुमला की स्थिति को देखना चाहिये.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: