ChaibasaChatraJharkhandLead NewsRanchi

ऐसे तो खत्म हो जाएगा पुलिस का डर: अतिक्रमण से रोकने पर बीडीओ को पीटा, डीजे बंद कराने पर दारोगा से मारपीट

Chatra\ Chaibasa: राज्य में नये साल के शुरू होते ही प्रशासन कमजोर पड़ता दिखायी दे रहा है. एक ओर जहां नये साल में प्रशासन को मजबूत करने के लिए प्रयास किये जा रहे हैं. वहीं दुसरी ओर इस तरह की घटनाओं से निश्चय ही अधिकारियों के साथ ही आम लोगों का भी मनोबल कमजोर होगा. पढ़ें कैसे प्रशासन और कानून का मजाक बनाया गया…

अतिक्रमण करने से रोका तो कर दी बीडीओ का पिटाई

कुंदा बीडीओ श्रवण राम के साथ शनिवार को कुछ दबंगों ने कार्यालय में घुस कर अभद्र भाषा का प्रयोग करते हुए मारपीट तक कर दी. मारपीट के कारण बीडीओ मामुली रूप से जख्मी हो गये. इसके बाद बीडीओ ने समुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र प्रतापपुर में प्रथमिक उपचार करवाया. उपचार करवाने के बाद आये बीडीओ ने पुलिस इंस्पेक्टर रंजीत रौशन से घटना की जानकारी देते हुए बताया कि प्रखंड कार्यालय के समीप एक सैरात भूमि का भूखंड है. जिसका रकबा 7 ऐकड़ 82 डीसमिल का प्लॉट है. उसमें कुछ स्थानीय लोगों के द्वारा अतिक्रमण किया जा रहा था. वहां जाकर काम करने से उक्त लोगों को रोकने के लिए कहा गया था. इसी बीच उक्त भूमि पर काम करा रहे लोगों ने काम नहीं रोकने की बात कही और अनाप-शनाब बकने लगे. इसके बाद मैं कार्यालय आ गया. इसी बीच कुंदा निवासी जितेंद्र शौंडीक और मनाजो शौंडीक आ धमके और गाली गलौज और करने लगे. इसके साथ ही उनके साथ मारपीट भी की गयी है. इस मामले में बीडीओ श्रवण राम ने दोनों आरोपियों के विरुद्ध केस दर्ज कराया है. वहीं पुलिस आरोपियों की धर पकड़ के लिए छापेमारी अभियान चला रही है.

advt

इसे भी पढ़ें-  कैसे शिकंजे में आएगा PLFI  सुप्रीमो दिनेश गोप, पुलिस ने बिछाया नया जाल

डीजे बंद कराने पहुंची थी पुलिस, लोगों ने कर दी दारोगा समेत जवानों की पिटाई

पश्चिम सिंहभूम जिले के किरीबुरू थाना क्षेत्र अंतर्गत प्रोस्पेक्टिंग गांव में देर रात तक स्थानीय लोगों को नववर्ष पर नाच गाना करने से रोका गया. इससे नाराज होकर लोगों ने एक पुलिस अधिकारी की जमकर पिटाई कर दी. इसके साथ ही पुलिस जवानों को भी खदेड़ दिया. इस दौरान कई पुलिस अधिकारी घायल हो गये. वहीं दूसरे दिन भी पुलिस के द्वारा म्यूजिक सिस्टम और कुछ लोगों को गिरफ्तार करने पर उग्र भीड़ ने थाना का घेराव किया. जानकारी मिली है कि पुलिस को सूचना मिली थी कि कुछ असमाजिक तत्व फुल साउंड में गाना बजा कर नाच रहे थे. मना करने पर पूरा विवाद शुरु हुआ. बता दें कि रात के अंधेरे का फायदा उठाकर लोगों ने दारोगा तक की पिटाई कर दी थी. इस घटना के बाद से पुलिस ने 5 लोगों को गिरफ्तार भी किया है एवं अन्य लोगों की तलाश कर रही है.

इसे भी पढ़ें-  SUNDAY SPECIAL STORY: क्या भानगढ़ में सचमुच सजती है भूतों की महफिल ?

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: