Crime NewsGiridihJharkhand

गिरिडीहः बिरनी में जमीन विवाद को लेकर सगे भाई ने बेटों के साथ मिलकर की भाई की हत्या

Giridih:  नौकरी लेने के साथ सेवानिवृत पिता के पीएफ का पैसे हड़पने के आरोप में सगे भाई समेत उसके तीन बेटों ने अपने ही करीबी की हत्या कर दी. मामले में गिरिडीह के बिरनी के झांझ गांव निवासी 40 वर्षीय नकुल वर्मा की हत्या सब्बल और चाकू से वारकर कर दी. सगे भाई समेत उसके बेटों द्वारा हत्या किए जाने के बाद मृतक के परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है. मृतक की पत्नी की हालत नाजुक बनी हुई है.

इसे भी पढ़ेंः बोकारो: हादसे को आमंत्रित कर रहा है बिजली विभाग का कारनामा, एक ही खंभे में 33 हजार, 11 हजार और 220 वोल्ट के तारों को लगाया

छुट्टी लेकर घर आये थे नकुल वर्मा

जानकारी के अनुसार हत्या की घटना के वक्त मृतक नकुल वर्मा अपने सीसीएल से अवकाश लेकर अपने गांव लौटा था. पत्नी समेत परिवार के सदस्यों के साथ बातचीत कर रहा था.

प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो इसी दौरान मृतक के घर के बाहर उसके सगे भाई देवनंदन वर्मा समेत उसके तीनों बेटे सूजीत वर्मा, अजीत वर्मा और रंजीत वर्मा पहुंचे. और जमीन के एक साल पुराने विवाद को लेकर हंगामा करना शुरू कर दिया.

भाई और उसके बेटों के हंगामा की आवाज सुनकर नकुल वर्मा घर से बाहर निकला. इसके बाद देवनंदन वर्मा व उसके तीनों बेटे सूजीत, अजीत और रंजीत ने सब्बल से छाती में वार करना शुरू कर दिया. नकुल मौके पर ही गिर पड़ा. हंगामा होने के बाद ग्रामीण जुटे. इसके बाद परिजनों ने ग्रामीणों के सहयोग से नकुल को गांव के स्वास्थ केन्द्र पहुंचाया. जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

इसे भी पढ़ेंः बोकारो: हादसे को आमंत्रित कर रहा है बिजली विभाग का कारनामा, एक ही खंभे में 33 हजार, 11 हजार और 220 वोल्ट के तारों को लगाया

हत्यारे को लोगों ने पकड़कर किया पुलिस के हवाले  

हत्या के बाद आरोपी भाई देवनंदन वर्मा को ग्रामीणों ने दबोच कर बिरनी पुलिस के हवाले कर दिया. जबकि आरोपी तीनों भतीजा सूजीत वर्मा, अजीत वर्मा और रंजीत वर्मा पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं. तीनों आरोपी भतीजों को दबोचने के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है.

घटना सोमवार दोपहर करीब 4 बजे की है. वहीं घटना के बाद एसडीपीओ विनोद महतो, सर्किल पुलिस निरीक्षक आरएन चैधरी और बिरनी थाना प्रभारी एके मिश्रा ने पुलिस जवानों के साथ घटनास्थल पहुंच कर मामले की जांच शुरू कर दी है. शव को कब्जे में लेकर पुलिस पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेजने की तैयारी में जुटी हुई है.

इसे भी पढ़ेंः अंतरराष्ट्रीय किक बॉक्सिंग चैंपियनशिप में धनबाद के कृष्णा ने जीता स्वर्ण 

हत्या की जड़ में हैं पैसा और जमीन  

जानकारी के अनुसार मृतक नकुल और आरोपी देवनंदन के पिता भातू महतो की नौकरी धनबाद सीसीएल में थी. पिता की मौत होने के बाद आपसी सहमति से पिता की नौकरी मृतक को मिली.

वहीं आरोपी देवनंदन को पिता के सेवानिधि के पैसे मिलने की सहमति बनी. लेकिन मां को मिले सेवानिधि की राशि को भी मृतक द्वारा हड़पने की बात सामने आ रही है. इस बीच पिता की जमीन को लेकर भी दोनों भाइयों में करीब एक साल से तनातनी चल रही थी.

जमीन विवाद का यह मामला एक साल से बिरनी थाना में चल रहा था. इसी क्रम में सोमवार को देवनंदन ने अपने तीनों बेटों के साथ मिलकर नकुल की हत्या कर दी.

इसे भी पढ़ेंः कांटाटोली फ्लाइओवर: अधिकारियों ने सांसद संजय सेठ से कहा- 2021 तक होगा निर्माण कार्य पूरा

Telegram
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close