Crime NewsGiridihJharkhand

गिरिडीह की पचंबा पुलिस की मौजूदगी में भूमाफियाओं ने की मारपीट

घटना के बाद भी आरोपियों पर कार्रवाई के बजाय दिया काम करने का आदेश

Giridih: जमीन विवाद के कारण रविवार को गिरिडीह के पचंबा थाना क्षेत्र के पचंबा हाई स्कूल के समीप दो पक्षों में जमकर मारपीट और गाली-गलौज हुआ.

एक पक्ष के सुरेश गुप्ता उर्फ लोहा सिंह व उनके बेटे चंदन गुप्ता अपने 25 गुर्गो के साथ विवादित जमीन पर जबरन चारदीवारी निर्माण कराने के प्रयास में जुटे थे तो दूसरी तरफ विवादित जमीन पर हक जता रहे प्रकाश साव व उनके बेटे समेत कई लोगों ने चंदन गुप्ता और उनके पिता लोहा सिंह समेत दोनों के गुर्गो को जबरन काम करने से रोका.

इसे भी पढ़ें : बच्चों को डॉक्टर व इंजीनियर बनाने के लिए जरूरी है गुणवत्तापूर्ण शिक्षा: मुख्यमंत्री

इस पर चंदन के साथ मौजूद लोगों ने प्रकाश साव व उनके बेटे को रॉड और लाठियों से पीटना शुरू कर दिया. इस दौरान प्रकाश साव के घर की महिलाएं जब विरोध करने पहुंची तो भूमाफिया चंदन गुप्ता अपने पिता लोहा सिंह समेत अपने गुर्गो के साथ महिलाओं को भी नहीं बख्शा. इस दौरान चंदन के गुर्गे महिलाओं को भी गंदी-गंदी गालियां देते दिखे.

जमीन विवाद को लेकर मारपीट की घटना के कारण काफी देर तक पचंबा हाई स्कूल का इलाके में अफरा-तफरी का माहौल रहा. इस बीच जानकारी मिलने के बाद जब पचंबा थाना की पुलिस घटनास्थल पहुंची, तो पुलिस की मौजदूगी में चंदन गुप्ता ने अपने गुर्गो के साथ प्रकाश साव के घर की महिलाओं के साथ बदतमीजी की, जबकि पचंबा थाना की पुलिस घटना के वक्त चुप ही रही.

हद तो तब हो गयी जब पचंबा थाना पुलिस आरोपियों पर कार्रवाई करने के बजाय भुक्तभोगी प्रकाश साव के तीन भाइयों को पकड़ककर थाना ले गयी. इस दौरान पचंबा पुलिस एकतरफा कार्रवाई करती दिखी और मारपीट की घटना के बाद भी आरोपियों को विवादित जमीन पर काम करने का आदेश दे दिया.

इधर पचंबा थाना प्रभारी नीतीश कुमार ने कहा कि विवादित प्लॉट का पूरा दस्तावेज चंदन गुप्ता व उनके पिता लोहा सिंह के पास है और पूरे दस्तावेज के आधार पर ही बाप-बेटे को जमीन पर काम करने का अधिकार दिया गया है. मारपीट की घटना की कोई जानकारी नहीं है.

इसे भी पढ़ें : गणतंत्र दिवस पर झारखंड पुलिस के 38 अफसरों-जवानों को मिलेगा पदक, देखिए पूरी लिस्ट

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: