JharkhandLead NewsRanchi

सिवरेज-ड्रेनेज के नाम पर रघुवर सरकार में सीपी सिंह ने की 400 करोड़ की बंदरबांट, हो जांचः कांग्रेस

Ranchi : भारी बारिश ने पूरे प्रदेश में आफत मचा रखी है. जलजमाव की समस्या, घर गिरने, जान-माल के नुकसान की खबरें सामने आ रही हैं. प्रदेश कांग्रेस ने इसके लिए पूर्ववर्ती रघुवर दास सरकार को दोषी ठहराया है. पार्टी के प्रवक्ता आलोक कुमार दुबे ने शनिवार को कहा कि सीपी सिंह करीब 24 सालों तक रांची के विधायक और पिछली सरकार में नगर विकास मंत्री रहे. उन्होंने गली-गली, नाली-नाली का खेल किया. जनता की गाढ़ी कमाई के 400 करोड़ रुपये से अधिक की बंदरबांट की.

उसी का नतीजा है कि आज रांची शहर में नाली का पानी सड़कों पर बह रहा है. लगातार सामने आती तस्वीरों को देख कर यह अंदाजा लगाना मुश्किल हो गया है कि नाली कहां है और सड़क कहां है. इन सबके पीछे पूर्व मंत्री सीपी सिंह ही जिम्मेवार हैं.

इसे भी पढ़ें :पंचायतों के स्वरूप पर अब तक पत्ते नहीं खोल रही सरकार

advt

इस्तीफा दें रांची विधायक

आलोक दुबे के मुताबिक 15-20 वर्ष पहले रांची में अभी के मुकाबले ज्यादा बारिश होती थी. बारिश के कुछ ही घंटे बाद पानी गायब हो जाता था लेकिन जिस तरह से सीपी सिंह और रघुवर दास के कार्यकाल में राजधानी में सिवरेज-ड्रेनेज के नाम पर पैसों की बंदरबांट हुई, उससे लोगों का जीवन मुश्किल हो गया है.

सीपी सिंह को इसके लिए अपनी जिम्मेवारी लेते हुए विधानसभा से त्यागपत्र दे देना चाहिए. उनके कार्यकाल में सिवरेज-ड्रेनेज और शहर के सौंदर्यीकरण के नाम पर पैसों के दुरुपयोग के लिए उच्चस्तरीय जांच जरूरी है.

adv

इसे भी पढ़ें :Tokyo Olympics महिला हॉकी में वंदना की हैट्रिक, भारत ने द. अफ्रीका को 4-3 से हराया, जानिये अब आगे का सफर किस पर निर्भर

अरबों रुपये कहां गये और इस पैसे से किसका विकास हुआ, इसकी जांच से साफ हो जायेगा कि राजधानी के इस हालात के लिए दोषी कौन है.

सीपी सिंह के कार्यकाल में हरमू नदी के सौंदर्यीकरण की भी जांच हुई. पर हकीकत में नदी का सौंदर्यीकरण तो नहीं हुआ पर इसके पैसों से ठेकेदार, अभियंताओं और काम का ठेका दिलाने में मदद करने वाले भाजपा नेताओं-विधायकों के घर का सुंदरीकरण जरूर हुआ. जांच से सच्चाई सामने आ जायेगी.

इसे भी पढ़ें :स्टेन स्वामी की मौत पर संजीदगी दिखाने वाले सीएम हेमंत ने जज उत्तम आनंद केस में दिखायी उदासीनताः रघुवर दास

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: