National

एमपी में हलचल, भाजपा ने राज्यपाल को चिट्ठी लिख विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने की मांग की, कहा- अल्पमत में कमलनाथ सरकार

Bhopal: लोकसभा चुनाव के एग्जिट पोल आने के बाद मध्य प्रदेश में सियासी हलचल तेज हो गयी है. भाजपा ने सीएम कमलनाथ के नेतृत्व वाली सरकार के अल्पमत में होने का दावा कर दिया है. भाजपा ने राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को चिट्ठी लिख कर विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने की मांग की है. भाजपा के इन दावों को खारिज करते हुए मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि उनकी सरकार बेहद मजबूत है. भाजपा ने यह दावा किया है कि कमलनाथ सरकार अपने आप गिर जायेगी.

इसे भी पढ़ें – NEWS WING IMPACT :  भूख से मरी संतोषी की मां कोईली को मिला उज्ज्वला योजना का लाभ

विशेष सत्र बुलाने पर भार्गव की दलील

बीजेपी नेता और विधानसभा में नेता विपक्ष गोपाल भार्गव ने हालांकि इस बात से इनकार किया कि उन्होंने विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने की मांग कमलनाथ सरकार के शक्ति परीक्षण के लिए की है. भार्गव ने कहा कि चुनाव को 6 महीने हो गये हैं, राज्य में लोग कमलनाथ सरकार से खुश नहीं हैं. चुनाव के एग्जिट पोल्स के नतीजे भी साफ बता रहे हैं कि कांग्रेस के पास अब जनमत नहीं है. इस पर विधानसभा में चर्चा होनी चाहिए. यह संभव है कि सत्र के दौरान स्पीकर से शक्ति परीक्षण की मांग की जाये.

इसे भी पढ़ें – सीएम का दावाः साढ़े चार साल में 30 लाख घरों में बिजली पहुंचायी, हकीकतः कनेक्शन तो जुड़ा, देने को बिजली नहीं

कांग्रेस ने दिया जवाब

कमलनाथ सरकार ने भाजपा को जवाब देते हुए कहा कि सरकार मजबूत है, भाजपा दिन में सपने देखा बंद करे. कांग्रेस नेता मुकेश नायक ने कहा कि जो संसदीय नियम और प्रक्रिया है, उसके मुताबिक विधानसभा का विशेष सत्र तभी बुलाया जा सकता है जब एक निश्चित अनुपात में विधायक यह मांग रखें या फिर मुख्यमंत्री सत्र आहूत करें.

इसे भी पढ़ें – एग्जिट पोल्स में एनडीए को बहुमत, विपक्षी दलों की ईवीएम पर ठीकरा फोड़ने की तैयारी

एमपी में सीटों का गणित

कुल सीटें 230
कांग्रेस 114
बीजेपी 109
बीएसपी 2
सपा 1
निर्दलीय 4

इसे भी पढ़ें – टीटीए का फैसला,  24 मई से झारखंड में ओड़िशा के ट्रक और ट्रेलर प्रवेश नहीं कर पायेंगे

Related Articles

Back to top button