Chatra

लोकसभा में सांसद ने आदिवासियों के उत्थान के लिए चलाए जा रहे योजनाओं की ली जानकारी

Chatra: चतरा सांसद सुनील कुमार सिंह ने लोकसभा में तांराकित प्रश्न के माध्यम से आदिवासियों के सामाजिक व आर्थिक उत्थान के लिए सरकार द्वारा चलाए जा रहे योजनाओं की जानकारी ली. जिसकी जानकारी उन्हें जनजातीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने दी. बताते चलें कि केंद्र सरकार के द्वारा आदिवासियों के उत्थान के लिए प्रधानमंत्री आदि आदर्श ग्राम योजना के नाम से कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं. लोक सभा के कारवाई के दौरान सांसद ने पूछा कि जनजातिय मंत्रालय का बजट 2020-21 में 5494 करोड़ रूपए से 53 फीसद बढाकर इस वित्त वर्ष में 8451.92 करोड़ किया गया. एसटी आबादी वाले देशभर के 36428 गांवो को प्रधानमंत्री आदि आदर्श ग्राम योजना में शामिल किया गया जिसमें झारखण्ड के 3891 गांव तथा मेरे संसदीय क्षेत्र के चतरा, लातेहार एवं पलामू जिले के 256 गांवो को भी शामिल किया गया.  इसमें शामिल प्रति गांव को 20 लाख 38 हजार रूपये की राशि का प्रावधान किया गया. है. झारखण्ड सहित त्रिपुरा, यू.पी. आदि राज्यों में कुछ जातियों को एसटी  में शामिल होने के बाद स्वभाविक रूप से कई गांवो व प्रखण्डों में पचास  प्रतिशत अनुसूचित जनजाति वाली आबादी बढ़ी होगी. तो ऐसे गांवो की पहचान कर  पीएमएएजीवाई में शामिल करने  की क्या योजना है? साथ ही एस.सी. से एस.टी. में शामिल होने के कारण एस.टी. की जनसंख्या में परिवर्तन के बाद ऐसे प्रखण्डो की संख्या में भी वृद्धि हुई होगी जो आदर्श एकलव्य स्कूलों के मानदण्डो को पूरा करते है. इसलिए चतरा जिले के कुन्दा, लावालौंग, सिमरिया और टण्ड़वा लातेहार जिले के बारियातू, हेरहंज, बालूमाथ, चन्दवा, मनिका  एवं सरयू तथा पलामू जिले के सतबरवा, पांकी और लेस्लीगंज प्रखण्डों में अब एकलव्य विद्यालय खोलने की क्या योजना हैं. यह भी पूछा गया कि मेरे लोक सभा क्षेत्र में पहले से स्वीकृत 6 एकलव्य विद्यालय कान्हाचटटी, बरवाडीह, गारू, लातेहार, महुआडार, मनातू मे से एक भी कार्यात्मक नहीं हुआ हैं. चतरा के कान्हाचटटी में तो 2014-15 से प्रगति पर है.  यह कब तक कार्यात्मक होगें.जिसका जवाब उन्हें जनजातीय मंत्री अर्जुन मुंडा ने दिया. आदिवासियों के उत्थांके लिए इन योजनाओं का संचालन करने के लिए सांसद ने प्रधानमंत्री के प्रति आभार प्रकट किया.

इसे भी पढ़ें: कोर्ट फीस में अप्रत्याशित वृद्धि के खिलाफ प्रतिवाद मार्च

Related Articles

Back to top button