न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

लोकसभा में भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने देश में समान नागरिक संहिता लागू करने की मांग की

निशिकांत दुबे ने देश में समान नागरिक संहिता लागू करने की मांग उठाई निशिकांत दुबे  झारखंड के गोड्डा से सांसद हैं.

56

NewDelhi :  लोकसभा में बुधवार को  विभिन्न दलों के सांसदों ने कई सवाल उठाये. भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने देश में समान नागरिक संहिता लागू करने की मांग उठाई. निशिकांत दुबे  झारखंड के गोड्डा से सांसद हैं. वहीं पार्टी के एक अन्य सदस्य ने पश्चिम बंगाल में अवैध घुसपैठ के विषय को उठाते हुए सरकार से प्रभावी कदम उठाने की मांग की. शून्यकाल में भाजपा के निशिकांत दुबे ने कहा कि संविधान के दिशानिर्देशक सिद्धांतों के तहत देश में समान नागरिक संहिता (यूनीफॉर्म सिविल कोड) होनी चाहिए.

उन्होंने सरकार का ध्यान आकृष्ट करते हुए कहा, अब समय आ गया है कि समान नागरिक संहिता के लिए विधेयक सदन में लाया जाए। जिससे सब नागरिक भारतीय कहलायें, हिंदू, मुस्लिम या ईसाई नहीं.  पश्चिम बंगाल से भाजपा के सदस्य सुकांत मजूमदार ने राज्य में रोहिंग्या समुदाय के लोगों की अवैध घुसपैठ का विषय उठाते हुए आरोप लगाया कि राज्य की सत्तारूढ़ पार्टी तुष्टीकरण के लिए घुसपैठियों के साथ खड़ी है. केंद्र सरकार को इस पर ध्यान देना चाहिए.

जनसंख्या नीति बनाने की मांग

भाजपा के दिलीप सैकिया ने देश में जनसंख्या वृद्धि को गंभीर मामला बताते हुए इस पर नियंत्रण के लिए जनसंख्या नीति बनाने की मांग की. उन्होंने असम समेत देशभर में रहने वाले बांग्लाभाषी हिंदुओं के लिए कदम उठाने की मांग भी केंद्र से की.  ॉ

टीएमसी के सौगत राय ने कहा कि लोकसभा में पिछले दिनों राष्ट्रीय आयुर्विज्ञान आयोग (एनएमसी) विधेयक पारित होने के बाद आज देशभर में डॉक्टर इसके विरोध में हड़ताल कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि विधेयक अभी राज्यसभा में पारित नहीं हुआ है और सरकार को चिकित्सक समुदाय की चिंताओं पर ध्यान देना चाहिए.

कांग्रेस के मनीष तिवारी ने उद्योगपति वी जी सिद्धार्थ की मौत का मुद्दा उठाते हुए कहा कि इस घटना के पीछे कथित रूप से एक कारण आयकर अधिकारी द्वारा उत्पीड़न किया जाना सामने आया है.  सरकार को इस संवेदनशील मामले में जांच करानी चाहिए.
भाजपा के रामकृपाल यादव ने बिहार के पटना में महान गणितज्ञ और खगोलशास्त्री आर्यभट्ट की कर्मभूमि को पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने की मांग शून्यकाल में उठाई.

शून्यकाल में ही भाजपा के सी पी जोशी, उदय प्रताप सिंह, विनोद कुमार सोनकर, देवजी सिंह पटेल, रमेश बिधूड़़ी, वी डी शर्मा, हंसराज हंस और सुनीता दुग्गल, कांग्रेस के गुरजीत सिंह औजला और अमर सिंह, तृणमूल कांग्रेस के शिशिर अधिकारी, वाईएसआर कांग्रेस के मिथुन रेड्डी तथा आरएसपी के एन के प्रेमचंद्रन ने भी अपने अपने मुद्दे उठाये.

इसे भी पढ़ेंः देश भर के तीन लाख से अधिक डॉक्टर नैशनल मेडिकल काउंसिल बिल के विरोध में हड़ताल  पर 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like

you're currently offline

%d bloggers like this: