DhanbadJharkhand

पिछले पांच वर्षों में देश ने की है बहुत तरक्की, जल्द होंगे विकसित देशों की श्रेणी में शामिल : डॉ शास्वत

Dhanbad : नीति आयोग के सदस्य डॉ वी के शास्वत मंगलवार को सिंफर के 73वें स्थापना दिवस के मौके पर बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए. वैज्ञानिकों और मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि सिंफर के वैज्ञानिकों ने बहुत अच्छा काम किया है. यंग साइंटिस्ट की भी अधिकता है. गैसीफिकेशन प्लांट के साथ मिथिनॉल बनाने के लिए प्लांट बनाने का भी निर्णय सिंफर ने लिया है. पायलट प्रोजेक्ट के रूप में यहां प्रयोग होगा, सफलता मिलने पर बड़े-बड़े प्लांट लगाये जा सकते हैं. 73वें वर्ष में प्रवेश करने पर सिंफर परिवार को उन्होंने बधाई दी.

इसे भी पढ़ें : पलामू संसदीय चुनाव में लैंड माइंस बड़ी चुनौती, 2015 से अबतक चार हजार से अधिक लैंड माइंस बरामद

देश धीरे-धीरे विकसित देशों की श्रेणी में शामिल हो रहा है

सिंफर ने 538 करोड़ रुपये की कमाई इस वर्ष में की है. 1500 टन प्रतिदिन उत्पादन का लक्ष्य रखा गया है. पिछले 5-6 वर्षों में देश ने काफी तरक्की की है. हमारी जीडीपी लगभग 7 प्रतिशत के आसपास पहुंच गयी है. भारत धीरे-धीरे विकसित देशों की श्रेणी में शामिल हो रही है. आत्मरक्षा के दृष्टिकोण से भी हम आत्मनिर्भर हुए हैं. जो लोग सर्जिकल सट्राइक या एयर स्ट्राइक पर सवाल कर रहे हैं उन्हें टेक्निकली जानकारी नहीं है. भारत ने जो जवाब दिया, उसमें हमारी रणनीति टेरीरिस्ट को नुकसान पहुंचाना था न कि सिविलियन को.

advt

इसे भी पढ़ें :बैंक में रुपये जमा करने के लिए लगे थे लाइन में, लुटेरों ने बैग काटकर उड़ा लिये डेढ़ लाख

ई-कचड़ा पर आइटी मंत्रालय गंभीर

आउट सोर्सिंग कंपनियां कोयले का उत्पादन करने में प्रदूषण को बढ़ावा देती हैं. उन्हें जो नॉर्म्स दिये जाते हैं, उसका पालन करना चाहिए. सोसायटी के कुछ गलत एलिमेंट के कारण नॉर्म्स फॉलों नहीं किये जा रहे हैं. एक जिम्मेदार नागरिक होने के नाते लोगों को उसके खिलाफ आवाज उठाना चाहिए, ताकि बातें सरकार तक पहुंच पाये. देश मे बढ़ती ई-कचड़ा के सवाल पर उन्होंने कहा कि उस पर काम चल रहा है, आइटी मंत्रालय भी गंभीर है.

इसे भी पढ़ें : आस्तीन का सांप है झामुमो, सौदेबाजों का गिरोह है महागठबंधन : आजसू

adv
advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button