JharkhandLead NewsRanchi

सांसद दीपक प्रकाश पर FIR मामले में बाबूलाल मरांडी ने कहा- एक आंख में काजल और एक में सूरमा का है ये उदाहरण

Ranchi : भाजपा प्रदेश अध्यक्ष और सांसद दीपक प्रकाश, विधायक समरी लाल सहित अन्य नेताओं के खिलाफ पुलिस ने एफआइआर दर्ज की है. 18 जून को किसानों के बकाया भुगतान की मांग को लेकर कांके, रांची में वे सभी धरना प्रदर्शन कार्यक्रम में शरीक हुए थे. अब भाजपा विधायक दल के नेता और पूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी ने राज्य के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) को लेटर लिखा है. पुलिस पर भेदभावपूर्ण कार्रवाई करने का आरोप लगाया है.

इससे स्पष्ट है कि सत्तापक्ष अपने खिलाफ हो रहे आंदोलन को दबाने और धमकाने के लिए पुलिस तंत्र का खुल्लम-खुल्ला दुरुपयोग कर रहा है. राज्य की पुलिस का भी यहां दोहरा चरित्र उजागर हुआ है.

राज्य की सत्ता में भागीदार दल कांग्रेस और राजद जब कोई आन्दोलन या कार्यक्रम करते हैं तो वहां कोविड नियमों के उल्लंघन पर पुलिस प्रशासन मौन साध लेता है. इसके कई उदाहरण मीडिया में सार्वजनिक हुए हैं.

advt

इसे भी पढ़ें :IT विभाग 1 July से किनसे वसूलेगा अधिक TDS, इसकी पहचान के लिए बनाया नया सिस्टम

मंत्री रामेश्वर उऱांव, सत्यानंद भोक्ता भी पर हो मामला दर्ज

बाबूलाल के अनुसार विगत 11 जून को कांग्रेस पार्टी ने अपने प्रदेश अध्यक्ष एवं राज्य सरकार के वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव के नेतृत्व में पेट्रोल डीज़ल के दामों के सवाल पर पेट्रोल पंपों पर धरना दिया था.

इसमें कोविड प्रोटोकॉल का खुल्लम-खुल्ला उल्लंघन किया गया. इसमें पार्टी के प्रवक्ता आलोक दुबे, लाल राजकिशोर नाथ शाहदेव, राजेश गुप्ता छोटू, पूर्व मंत्री गीताश्री उरांव सहित कई कार्यकर्ता शामिल हुए.

इसी तरह उसी दिन चतरा में राज्य सरकार के मंत्री सत्यानंद भोक्ता ने भीड़भाड़ के बीच हॉल में अपनी पार्टी के नेता लालू प्रसाद का केक काट कर जन्मदिन मनाया.

19 जून को कांग्रेस पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी का जन्मदिन भी रांची में कोविड नियमों का घोर उल्लंघन करते हुए मनाया गया.

इसमें पार्टी के वरिष्ठ नेता पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय, मंत्री बादल पत्रलेख, विधायक बंधु तिर्की, दीपिका पांडेय सिंह, कुमार जयमंगल सिंह, राजेश कच्छप सहित सैकड़ों नेता कार्यकर्ता शामिल हुए.

इसे भी पढ़ें :जानिए ऐसा क्या हुआ जो कोर्ट ने पूर्व PM एचडी देवगौड़ा पर लगाया दो करोड़ का जुर्माना

राजभवन के सामने तोड़ा गया कोरोना प्रोटोकॉल

पिछले ही दिनों कांग्रेस पार्टी द्वारा रांची राजभवन के समक्ष कृषि कानून के खिलाफ आंदोलन कार्यक्रम आयोजित किया गया था. इसमें कोविड नियमों की धज्जियां उड़ायी गयीं. इसका नेतृत्व कांग्रेस के राष्ट्रीय नेता और झारखंड के प्रभारी आरपीएन सिंह ने किया.

कार्यक्रम में मंत्री रामेश्वर उरांव सहित पार्टी के अन्य मंत्री, विधायक, पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता भी शामिल थे. परंतु विडंबना यह है कि राज्य के सत्ताधारी दलों के द्वारा आयोजित इन सारे कार्यक्रमों में पुलिस द्वारा एक भी मुकदमा दर्ज नहीं किया गया.

ऐसे में पुलिस का यह दोहरा चरित्र राज्य के लिए हितकारी नहीं है. अतः राज्यहित में अविलंब ऐसे मामलों में स्वतः संज्ञान लिया जाये. विधि सम्मत कार्रवाई भी सुनिश्चित हो.

इसे भी पढ़ें :जेट एयरवेज फिर से भरेगा उड़ान, रांची के मुरारी जालान के कंसोर्टियम का प्रस्ताव हुआ मंजूर

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: