Fashion/Film/T.VLead NewsTOP SLIDER

फिल्म Why I killed Gandhi फंसी विवाद में, कांग्रेस ने की बैन लगाने की मांग, NCP के MP ने किया है गोडसे का रोल

महाराष्ट्र कांग्रेस के अध्यक्ष नाना पटोले ने फिल्म पर बैन लगाने के लिए सीएम को लिखा पत्र

Mumbai : हमारे देश में फिल्मों को लेकर अक्सर विवाद होते रहते हैं. कभी कोई व्यक्ति या कोई संगठन किसी फिल्म विशेष का विरोध कर उस पर बैन लगाने की मांग करते रहते हैं. जब इनकी मांग नहीं मानी जाती है तो ये लोग सिनेमा हॉल में फिल्म का प्रदर्शन रोकने के लिए हिंसा का भी सहारा लेते हैं. अभी ताजा मामले में Why I killed Gandhi फिल्म को लेकर विवाद शुरू हो गया है.

Advt

इसे भी पढ़ें:पश्चिमी यूपी : जिसके साथ जाट, उसी की ठाट

रिलीज होने से रोकने की मांग

कांग्रेस के महाराष्ट्र (Maharashtra) इकाई के अध्यक्ष नाना पटोले ने फिल्म पर बैन लगाने की मांग करते हुए राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को चिट्ठी लिखी है. इस चिट्ठी में इस फिल्म को राज्य और ओटीटी मंच पर भी रिलीज होने से रोकने की मांग की है.

मराठी भाषा में लिखी गयी इस चिट्ठी में उन्होंने उद्धव ठाकरे से बैन लगाने की मांग करते हुए लिखा है, पूरी दुनिया गांधी की विचारों को मानती है. यह फिल्म गांधी के हत्यारे का चित्रण करती है.

इसे भी पढ़ें:झारखंड : राज्य के छह विवि में हिंदी और हिस्ट्री के सहायक प्रोफेसर का रिजल्ट जारी

महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर रिलीज होनी है फिल्म

फिल्म महात्मा गांधी की पुण्यतिथि को ही रिलीज हो रही है. इस फिल्म को लेकर राजनीतिक तौर पर चर्चा तेज है. राजनतीतिक तौर पर भी इसका विरोध तेज हो रहा है.

नाना पटोले ने साफ संकेत दिये हैं कि कांग्रेस पार्टी इस फिल्म का पूरी तरह विरोध करेगी. गांधी के हत्यारों को आप नायक की तरह पेश नहीं कर सकते. हमारा देश गांधी की विचारों के लिए अपनी पहचान रखता है.

इसे भी पढ़ें:चिंता : अब भी बालिग होने से पहले 10 फीसदी बच्चियां बन रही हैं मां

अमोल कोल्हे बने हैं नाथूराम

इस फिल्म में इस विषय के साथ साथ फिल्म में मुख्य भूमिका निभाने वाले अभिनेता भी खूब चर्चा में है. इस फिल्म में नाथूराम गोडसे की भूमिका निभा रहा व्यक्ति कोई साधारण अभिनेता नहीं है बल्कि एनसीपी के सांसद और एक्टर अमोल कोल्हे हैं.

एनसीपी हमेशा नाथूराम का विरोध करती रही है ऐसे में उसी के नेता का नाथूराम गोडसे की भूमिका में होना खूब सुर्खियां बटोर रहा है. विवाद बढ़ा तो अमोल कोल्हे ने भी अपना पक्ष रखते हुए कहा, गांधीवादी विचारों में मेरा दृढ़ विश्वास है.

उन्होंने कहा कि मैंने खुद को चुनौती देने के लिए इस विवादास्पद किरदार को चुना है. फिलहाल फिल्म को लेकर विवाद थमता नजर नहीं आ रहा.

इसे भी पढ़ें:Sarkari Naukri: CISF में निकली 647 वैकेंसी, 5 फरवरी 2022 तक करें अप्लाई

Advt

Related Articles

Back to top button