न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

आचार संहिता उल्लंघन के मामले में अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने ऊर्जा विभाग से मांगा जवाब

438

Ranchi: तेनुघाट विद्युत निगम लिमिटेड पर जेएमएम ने आचार संहिता का उल्लंघन का आरोप लगाया था. इस संदर्भ में पार्टी ने केंद्रीय निर्वाचन आयोग को भी पत्र लिख कर समीक्षा करते हुए मामले की जांच और जिम्मेदार पदाधिकारियों पर आपराधिक मुकदमा दर्ज करने की मांग की थी. पत्र की एक प्रतिलिपि पार्टी ने राज्य निर्वाचन पदाधिकारी और गिरिडीह लोकसभा क्षेत्र के निर्वाचन पदाधिकारियों को भी सौंपी थी, जिसमें टीटीपीएस में 2 साल से बंद पड़े अस्पताल को खोलने के लिए एक लोकार्पण कार्यक्रम का आयोजन किया गया था. इसमें कई राजनीतिक दल के नेताओं को भी सम्मिलित किया गया था. जिसे जेएमएम ने आचार संहिता का उल्लंघन माना था. इस दिशा में कार्रवाई करते हुए अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी अमिताभ कौशल ने ऊर्जा विभाग के सचिव को पत्र लिख कर जवाब मांगा है.

इसे भी पढ़ें – नेपाल से रांची आयी तीन महिलाओं का अपहरण, मामले की जांच में जुटी पुलिस

कैंपस में प्रबंधन ने वहां के कर्मिय़ों के लिए खोला है अस्पताल

टीटीपीएस कैंपस में प्रबंधन ने वहां के कर्मिय़ों के लिए एक अस्पताल खोला है. लेकिन धीरे-धीरे इस अस्पताल से सारे डॉक्टर रिटायर होकर चले गये. दो साल से यह अस्पताल बंद पड़ा था. अस्पताल फिर से खोलने की मांग होती आ रही थी. मांग के मद्देनजर टीटीपीएस प्रबंधन ने इस अस्पताल को चलाने का जिम्मा रामगढ़ के वृंदावन अस्पताल प्रबंधन को दे दिया. दो साल बंद रहने के बाद अस्पताल को खोलने के लिए फिर से एक बार उद्घाटन का कार्यक्रम आयोजित किया. कार्यक्रम में जेएमएम, बीजेपी और लोकल नेताओं को बुलाया गया. जिसे आचार संहिता के उल्लंघन के दायरे में आना माना जा रहा है.

इसे भी पढ़ें – मई के दूसरे सप्ताह में निकालना था जैक को रिजल्ट, अब तक कोई तैयारी नहीं

कौन-कौन नेता थे मौजूद

Related Posts

धनबाद : हाजरा क्लिनिक में प्रसूता के ऑपरेशन के दौरान नवजात के हुए दो टुकड़े

परिजनों ने किया हंगामा, बैंक मोड़ थाने में शिकायत, छानबीन में जुटी पुलिस

SMILE

टीटीपीएस के अस्पताल उद्घाटन कार्यक्रम में टीटीपीएस के तमाम बड़े अधिकारियों के अलावा कई नेताओं ने भी हिस्सा लिया. भाषण दिया और मंच भी साझा किया. तस्वीर में साफ तौर से देखा जा सकता है कि कार्यक्रम के दौरान बीजेपी के नेता चितरंजन साव सफेद शर्ट पहन कर बैठे हुए हैं. जेएमएम पार्टी की कार्यकर्ता और मुखिया बबुली सोरेन और बीजेपी के धनीराम मांझी मौके पर मौजूद थे. इस मामले पर टीटीपीएस प्रबंधन से पूछे जाने पर उन्होंने जवाब देने से इनकार कर दिया.प्लांट हेड स्नातन सिंह ने कहा कि अभी मीटिंग में हूं. बाद में बात करूंगा.

पार्टी के मुताबिक टीटीपीसी में निम्न कार्यों को अंजाम दिया गया है..

  • गत 22 अप्रैल को आदेश संख्या 2/19-20 के माध्यम से टीटीपीएस के अस्पताल का प्रबंधन एक निजी अस्पताल को सौंपने संबंधी आदेश जारी किया गया. इस कार्य हेतु एजेंसी का चयन भी मनमाने तरीके से हुआ. लेकिन इसकी कोई प्रकिया नहीं अपनायी गई, न ही इसके लिए कोई आवश्यक अनुमति ही ली गयी.
  • उक्त अस्पताल का उद्घाटन गत 2 मई को किया गया, जिसमें विभिन्न राजनेताओं को भी शामिल कराया गया. इसके लिए भी कोई अनुमति नहीं ली गयी.
  • गत 30 अप्रैल को टीटीपीएस द्वारा स्थानांतरण एवं पदस्थापन संबंधी कार्यालय आदेश 27/9-20 जारी किया गया, जिसके लिए भी कोई अऩुमति नहीं लगी गयी.

इसे भी पढ़ें – केंद्र से 130 करोड़ मिले पर राज्य सरकार नहीं चालू करा पायी 13 एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: