BiharLead NewsNationalTOP SLIDER

तेजस एक्सप्रेस में चड्ढी-बनियान में घूमते रहे जदयू विधायक, यात्रियों ने टोका तो करने लगे मारपीट

Patna: जनता दल यूनाइटेड (JDU) के विधायक गोपाल मंडल ने एक बेहद शर्मनाक हरकत की है. जिसके चलते वे एक बार फिर विवादों में आ गए हैं. राजेन्द्र नगर (पटना) से नई दिल्ली को जाने वाली 02309 तेजस राजधानी एक्सप्रेस में गोपाल मंडल यात्रा कर रहे थे. इस दौरान वे कपड़े उतारकर चड्ढी-बनियान में घूमते दिखे.

इसे भी पढ़ें : जानें, किस गलती के लिये एक साथ पांच आईएएस अधिकारियों को सुनाई गई जेल की सजा

गोपाल मंडल को इस तरह देखकर कोच में मौजूद दूसरे यात्री ने आपत्ति जताई और उन्हें कपड़े पहनने के लिए कहा. लेकिन जेडीयू विधायक नहीं माने और उस यात्री के साथ गाली-गलौज करने लगे. विवाद बढ़ता देख वहां मौजूद आरपीएफ की टीम ने मामले को शांत करने की कोशिश की. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक एक आरपीएफ़ जवान ने बताया कि यह घटना दिलदारनगर स्टेशन को पास हुई.

ram janam hospital
Catalyst IAS

दरअसल, गोपाल मंडल तेजस राजधानी एक्सप्रेस के A-1 कोच में सफर कर रहे थे. उसी कोच में जहानाबाद के रहने वाले प्रहलाद पासवान अपने परिवार के साथ नई दिल्ली जा रहे थे. तभी उन्होंने जेडीयू विधायक को कपड़े उतारकर चड्ढी-बनियान में घूमते देखा. गोपाल चड्ढी-बनियान में टॉयलेट गए थे. जिसके बाद प्रहलाद ने आपत्ति जताई और महिला यात्री साथ में होने का हवाला दिया.

The Royal’s
Pushpanjali
Pitambara
Sanjeevani

इसे भी पढ़ें : राजीव गांधी के मना करने के बावजूद संजय गांधी ने उड़ाई थी पिट्स प्लेन, राहुल गांधी ने सुनाया पूरा किस्सा

आरोप है कि विरोध के बाद विधायक गुस्से में आ गए और सहयात्री को गाली देते हुए मारपीट करने पर उतारू हो गए. विधायक के साथ तीन लोग सफर कर रहे थे. यात्रियों के साथ कहासुनी होने पर साथ आए लोग उन्हें समझाने लगे. इसी बीच मौके पर पहुंचे टीटीई ने दोनों पक्षों को समझाकर मामला शांत करवाया. वहीं सहयात्री ने जिसके बाद वहां मौजूद आरपीएफ़ की टीम ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्टेशन की रेल पुलिस से विधायक की शिकायत की, इसपर आरपीएफ ने उनका कोच बदल दिया.

 

हालांकि बाद में न्यूज़ एजेंसी एएनआई से बात करते हुए गोपाल मंडल ने कहा, “वास्तविक में हम चड्ढी-बनियान में थे. क्योंकि जैसे ही ट्रेन में चढ़े, मेरा पेट खराब हो गया. मैं जो बोलता हूं सच बोलता हूं. झूठ में बोलता नहीं हूं. झूठ बोलने से मुझे फांसी नहीं लग जाएगा.”

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक प्रहलाद ने विधायक के खिलाफ इस मामले में किसी प्रकार की लिखित शिकायत नहीं की है. जिसके बाद ट्रेन वहां से आगे लिए निकल गई.

Related Articles

Back to top button