न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

इस गर्मी में भी आधी रांची को समय पर नहीं मिल रहा पानी, लोगों की बढ़ी परेशानी

पेयजल और स्वच्छता विभाग के अधिकारी मस्त, जनता पस्त

611

Ranchi:  चिलचिलाती धूप और गर्मी की तपिश के बीच बीते चार-पांच दिनों से आधी रांची को समय पर जलापूर्ति नहीं हो रही है. बड़ी बात ये है कि पेयजल और स्वच्छता विभाग के अधिकारियों को इस बात का इल्म तक नहीं कि जनता को पानी नहीं मिल रहा है.

mi banner add

अब तो लोग यह शिकायत करने लगे हैं कि अधिकारी गर्मी में अपने में ही मस्त हो गये हैं, जिससे जनता की परेशानी बढ़ गयी है. विभागीय अधिकारियों का कहना है कि पिछले चार-पांच दिनों से बिजली की आंखमिचौली से स्थिति गड़बड़ हो गयी है.

इसे भी पढ़ेंःपंचायतों में लगने वाली 3.84 लाख की जलमीनार को 1.5 लाख में लगवा रहे हैं वेंडर, बाकी राशि कमीशनखोरी की भेंट

यदि 10 मिनट तक हटिया प्लांट की बिजली काट दी गयी, तो एक घंटे तक जलापूर्ति प्रभावित होती है.

वहीं हटिया डिविजन के कार्यपालक अभियंता रेयाज आलम को मालूम ही नहीं है कि जलापूर्ति व्यवस्था पूरी तरह गड़बड़ हो गयी है. उन्होंने इस संबंध में संबंधित सहायक अभियंता से पूरे मामले पर रिपोर्ट मांगी है.

लोगों को मालूम नहीं कब आयेगा पानी

विभाग के हटिया डिविजन से एचइसी आवासीय परिसर, एचइसी के तीनों प्लांट, झारखंड सरकार के सचिवालय और संबद्ध कार्यालयों, विधानसभा, तुपुदाना, हटिया, सिंहमोड़, बिरसा चौक, हिनू, सचिवालय कॉलोनी, मनीटोला, एयरपोर्ट और आसपास के इलाकों में पानी की सप्लाई कब की जायेगी. इसका लोगों को पता ही नहीं चल रहा है.

इस डैम से जुड़े अधिकतर बड़ी कॉलोनियों में ट्यूबवेल में पानी का स्तर भी कम हो गया है, जिससे परेशानी और बढ़ गयी है. इलाके से जगन्नाथपुर की स्लम बस्ती, मौसीबाड़ी के पास की कॉलोनी, बिरसा चौक के पास रेलवे पटरी के निकट रहनेवाले लोग, हिनू बस्ती, मनीटोला, सचिवालय कॉलोनी से जुड़े क्वार्टरों के लोग, जो पूरी तरह सप्लाई वाटर पर निर्भर हैं, वे सुबह से ही पानी के लिए इधर-उधर भटकते रहते हैं.

डैम से 9.5 एमजीडी पानी की होती है आपूर्ति

हटिया डैम से 9.5 मिलियन गैलन पानी की आपूर्ति तीन लाख की आबादी को की जाती है. एचइसी के तीनों प्लांट के लिए 3.5 एमजीडी, एयरपोर्ट के लिए दो लाख गैलन पानी की आपूर्ति प्रति दिन की जाती है.

इसे भी पढ़ेंःदर्द-ए-पारा शिक्षक: पत्नी की सिलाई से चलता है घर, पैसों के अभाव में बेटा कई परीक्षाओं से हुआ वंचित

दो बार की जाती है जलापूर्ति

डैम के मुख्य जलागार हटिया से सुबह सात बजे और 11 बजे दो बार पानी की आपूर्ति की जाती है. सुबह सात बजे एचइसी आवासीय परिसर, हिनू, डोरंडा तक सीधी जलापूर्ति की जाती है. वहीं 11 बजे सचिवालय कॉलोनी, तुपुदाना, मनीटोला, डोरंडा, सीआरपीएफ कैंप, जगन्नाथपुर, तुपुदाना औद्योगिक क्षेत्र, बिरसा चौक समेत आसपास के इलाकों में जलापूर्ति की जाती है.

कहां-कहां हैं हटिया से जुड़े जलमीनार

डैम से जुड़े जलमीनार प्रोजेक्ट भवन मंत्रालय, एचइसी के तीनों प्लांट, जगन्नाथपुर, विधानसभा परिसर, रेलवे कॉलोनी हटिया, तुपुदाना इंडस्ट्रीयल एरिया, हिनू सचिवालय कॉलोनी के पास, डोरंडा और सेल सेटेलाइट कॉलोनी में सीधे पीने के पानी की आपूर्ति की जाती है, ताकि वहां के संप को भरा जा सके.

डैम से आठ से अधिक जलमीनार के जरिये पानी की आपूर्ति की जाती है. पहले चरण की जलापूर्ति में सभी जलमीनारों के संप को भरा जाता है. इसके बाद जलापूर्ति सुनिश्चित की जाती है.

इसे भी पढ़ेंःरामकृष्ण मिशन आश्रम से भागे सात बच्चों का आरोपः नहीं मिलता खाना, पढ़ाई के नाम पर करवाया जाता है काम

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: