BiharCrime News

समस्तीपुर में पूर्व मुखिया चढ़ी निगरानी के हत्थे, गबन का है आरोप

Samastipur : जिले के सिवैसिंगपुर पंचायत की पूर्व मुखिया उर्मिला देवी को निगरानी पटना की टीम ने उनके घर से गुरुवार को गिरफ्तार किया है. मनरेगा सहित अन्य विकास योजनाओं में गबन किये जाने की बात सामने आने के बाद विजिलेंस ने पूर्व मुखिया को घर से दबोचा. जानकारी के अनुसार इसी पंचायत के पूर्व मुखिया मनोज तिवारी सोमवार को पटना में लगनेवाले मुख्यमंत्री के जनता दरबार में पहुंचे थे और सीएम नीतीश से शिकायत की थी. मनोज तिवारी ने मुख्यमंत्री को बताया था कि सिवैसिंगपुर पंचायत में सरकारी योजनाओं में लूट-खसोट की गयी है.

इसे भी पढ़ें:रांची: बाल सुधार गृह में एसडीओ व सदर डीएसपी ने मारा छापा, नहीं मिला आपत्तिजनक सामान

मनोज तिवारी की शिकायत की जांच का जिम्मा मुख्यमंत्री ने निगरानी विभाग को सौंपा. सरकारी राशि गबन की बात सामने आने के बाद निगरानी ने केस दर्ज किया.

Chanakya IAS
Catalyst IAS
SIP abacus

जिसमें तत्कालीन मुखिया उर्मिला देवी सहित कई लोगों को आरोपित बनाया गया. गुरुवार को उर्मिला देवी को गिरफ्तार कर निगरानी की टीम अपने साथ पटना लेकर गयी है. 13 साल बाद हुई इस गिरफ्तारी से जनप्रतिनिधियों के बीच हड़कंप मचा हुआ है.

Sanjeevani
MDLM

इसे भी पढ़ें:मोटर वाहन अगर स्टेट हाइवे के अलावा फ्लाईओवर,ब्रिज, बाइपास का करेंगे उपयोग तो देनी होगी यूजर फीस

Related Articles

Back to top button