JharkhandLead NewsNEWSRanchi

Ranchi में इस बार भी कोरोना गाइडलाइन के बीच भक्तों को करनी होगी मां की अराधना, चैत्र नवरात्र कल से

Ranchi: शक्ति की उपासना का महापर्व चैत्र नवरात्र 13 अप्रैल से शुरू हो रहा है. इस बार नौ दिनों का नवरात्र होगा. मां के पूजन और अर्चन के लिए घरों में तैयारियां शुरू हो गई हैं. नौ दिनों की उपासना के लिए घड़ा, चुनरी, दशांग, धूप, दीप और नैवेद्य आदि की खरीदारी भक्तों की ओर से की जा रही है. कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रशासन भी पूरी तरह से अलर्ट पर है. कोरोना से बचाव के लिए इस बार भी भक्तों को चैती दुर्गा में मां की आराधना कोरोना गाइडलाइन के बीच करनी होगी. चैत्र नवरात्र 13 से 22 अप्रैल तक चलेगा.

नवरात्रि पूजा की सामग्री

लाल रंग मां दुर्गा का सबसे खास रंग माना जाता है. इसलिए पूजा शुरू करने से पहले लाल रंग के आसन का इंतजाम कर लें. आप लाल रंग के कपड़े का भी इस्तेमाल कर सकते हैं. इसके अलावा मां के लिए लाल चुनरी, कुमकुम, मिट्टी का पात्र, जौ, साफ की हुई मिट्टी, जल से भरा हुआ सोना, चांदी, तांबा, पीतल या मिट्टी का कलश, लाल सूत्र, मौली, इलाइची, लौंग, कपूर, साबुत सुपारी, साबुत चावल, सिक्के, अशोक या आम के पांच पत्ते, पानी वाला नारियल, फूल माला और नवरात्रि कलश मंगा लें.

advt

खाली ना चढ़ाएं लाल चुनरी

मां दुर्गा को खाली चुनरी कभी नहीं चढ़ानी चाहिए. चुनरी के साथ सिंदूर, नारियल, पंचमेवा, मिष्ठान, फल, सुहाग का सामान चढ़ाने से मां खुश होती हैं और आर्शीवाद देती है. मां दुर्गा को चूड़ी, बिछिया, सिंदूर, महावर, बिंदी, काजल चढ़ाना चाहिए.

चैत्र नवरात्रि 2021 का महत्व

चैत्र नवरात्रि का पहला दिन पूर्णिमा चरण के दौरान पड़ता है, जिसे शुक्ल पक्ष चरण के रूप में जाना जाता है. चैत्र नवरात्रि का पहला दिन हिंदू कैलेंडर के दिन को भी दर्शाता है. नौ दिनों के दौरान, देवी दुर्गा के नौ रूपों की पूजा की जाती है और सभी नौ दिनों को शुभ माना जाता है. नौ दिनों के दौरान किए गए अनुष्ठान हर दिन बदलते हैं.

देश के विभिन्न हिस्सों में, चैत्र नवरात्रि को अलग-अलग नामों से जाना जाता है

देश के विभिन्न हिस्सों में, चैत्र नवरात्रि को अलग-अलग नामों से जाना जाता है. महाराष्ट्र में, चैत्र नवरात्रि के पहले दिन को गुड़ी पड़वा के रूप में जाना जाता है, जबकि कश्मीर में चैत्र नवरात्रि को नवरात्र के रूप में जाना जाता है. भले ही नाम पूरे देश में अलग-अलग हों, लेकिन त्योहार को उसी उत्साह और खुशी के साथ मनाया जाता है.

चैत्र नवरात्रि 2021 के नौ दिन:

दिन 1: 13 अप्रैल (मंगलवार) प्रतिपदा

दिन 2: 14 अप्रैल (बुधवार) द्वितीया

दिन 3: 15 अप्रैल (गुरुवार) तृतीया

दिन 4: 16 अप्रैल (शुक्रवार) चतुर्थी

दिन 5: 17 अप्रैल (शनिवार) पंचमी

दिन 6: 18 अप्रैल (रविवार) षष्ठी

दिन 7: 19 अप्रैल 2021 (सोमवार) सप्तमी

दिन 8: 20 अप्रैल (मंगलवार) अन्नपूर्णा अष्टमी-संधि पूजा

दिन 9: 21 अप्रैल (बुधवार) रामनवमी

दिन 10: 22 अप्रैल (गुरुवार) दशमी, नवरात्रि पारण

इसे भी पढ़ें: हजारीबागः 48 घंटे में 233 मरीज मिले, लोग समझने को तैयार नहीं

 

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: