National

पीएम मोदी के मन की बात में किसान आंदोलन…देवी अन्नपूर्णा की प्रतिमा… पक्षियों की दुनिया की चर्चा…

प्रधानमंत्री मोदी ने भारतीय संस्कृति, शास्त्र-पुराणों और वेदों के महत्व और गौरवमयी इतिहास पर चर्चा की.

NewDelhi : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज रविवार को अपने दूसरे कार्यकाल में 18वीं बार मन की बात करते हुए कई आयामों पर चर्चा की. भारतीय संस्कृति, शास्त्र-पुराणों और वेदों के महत्व और गौरवमयी इतिहास पर चर्चा की.  इस क्रम में ब्राजील के एक युवक जॉनस का  जिक्र करते कहा कि जॉनस ने भारतीय संस्कृति इतनी भा गयी कि उन्होंने कारोबारी रुझान को छोड़कर पूरा वक्त आध्यात्म की ओर दिया.

पीएम ने दिल्ली बॉर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन  के बीच नये कृषि कानूनों का लाभ भी समझाया. कहा कि भारत मे खेती और उससे जुड़ी चीजों के साथ नये आयाम जुड़ रहे हैं. कृषि सुधारों ने किसानों के लिए नयी संभावनाओं के द्वार भी खोले हैं. प्रधानमंत्री  मोदी के अनुसार काफी विचार विमर्श के बाद भारत की संसद द्वारा कृषि सुधारों को कानूनी स्वरुप दिया गया है.

इसे भी पढ़े  : कोरोना वायरस : देश में संक्रमण के मामले पहुंचे 94 लाख पर…

सुधारों से  किसानों के अनेक बंधन  समाप्त हुए

कहा कि इन सुधारों से  किसानों के अनेक बंधन  समाप्त हुए हैं, उन्हें नये अधिकार, नये अवसर भी मिले हैं. इन अधिकारों ने बहुत कम समय में किसानों की परेशानियां दूर करना शुरू कर दिया है. पीएम ने कहा कि इस कानून में यह प्रावधान भी किया गया है कि क्षेत्र के एसडीएम को एक महीने के अंदर ही किसानों की शिकायतों का निपटारा करना होगा.

advt

इसे भी पढ़े  : अफ्रीकी  देश नाइजीरिया में क्रूरतम घटना, जिहादी संगठन बोको हराम ने 43 मजदूरों को बंधक बना कर गला काट दिया

देवी अन्नपूर्णा की  पुरानी प्रतिमा कनाडा से भारत लायी जा रही है.

पीएम ने देश की जनता से एक नयी खबर दी. कहा कि हर भारतीय को यह जानकर गर्व होगा कि देवी अन्नपूर्णा की एक बहुत पुरानी प्रतिमा कनाडा से वापस भारत लायी जा रही है. यह प्रतिमा लगभग 100 साल पहले 1913 के करीब वाराणसी के एक मंदिर से चुराकर देश से बाहर भेज दी गयी थी.

उन्होंने कहा कि माता अन्नपूर्णा की प्रतिमा की तरह ही हमारी विरासत की अनेक अनमोल धरोहरें, अंतर्राष्ट्रीय गिरोंहों का शिकार होती रही हैं.ऐसे गिरोह अंतर्राष्ट्रीय बाजार में इन धरोहरों को बहुत ऊंची कीमत पर बेचते हैं. अब इन पर सख्ती लगाई जा रही है और इनकी वापसी के लिए भारत ने जोरदार प्रयास शुरू कर दिया है.

इसे भी पढ़े  छत्तीसगढ़ के सुकमा में बारूदी सुरंग में विस्फोट, सीआरपीएफ के सहायक कमांडेंट शहीद, सात जवान घायल

जॉनस ने भारत में वेदांत दर्शन का अध्ययन किया

प्रधानमंत्री ने कहा, ब्राजील के युवक जॉनस  Mechanical Engineering  की पढ़ाई करने के बाद स्टॉक मार्केट  में   कंपनी बनाकर काम किया. लेकिन उनका रुझान  भारतीय संस्कृति और विशेषकर वेदांत की ओर हो गया. पीएम मोदी ने कहा, जॉनस ने भारत में वेदांत दर्शन का अध्ययन किया और चार साल तक वे कोयंबटूर के आर्ष विद्या गुरूकुलम में अध्ययनरत रहे.   कहा कि  जॉनस में एक और विशेषता थी कि वह अपने संदेशों को आगे बढ़ाने के लिए तकनीक का प्रयोग कर रहे हैं.

डॉक्टर सलीम नेBird watching को लेकर उल्लेखनीय कार्य किया है

इस क्रम में मन की बात में पीएम मोदी ने डॉक्टर सलीम अली को उनकी 125वीं जयंती पर याद करते हुए कहा कि इस माह 12 नवंबर से डॉक्टर सलीम अली का 125वां जयंती समारोह शुरू हुआ है.

कहा कि डॉक्टर सलीम ने पक्षियों की दुनिया में Bird watching को लेकर उल्लेखनीय कार्य किया है. मेरी भागदौड़ की ज़िन्दगी में मुझे भी पिछले दिनों केवड़िया में पक्षियों के साथ समय बिताने का बहुत ही यादगार अवसर मिला. पीएम ने कहा कि पक्षियों के साथ बिताया हुआ समय आपको प्रकृति से भी जोड़ेगा और पर्यावरण के लिए भी प्रेरणा देने वाला होगा.

 

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: