न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

हो भाषा को 8वीं अनुसूची में शामिल करने की मांग को लेकर तीन व चार दिसंबर को दिल्ली में होगा प्रदर्शन

24

Chaibasa : हो युवा महासभा की ओर से हरिगुटु चाईबासा में शुक्रवार को संवाददाता सम्मेलन का आयोजन किया गया. इसमें महासभा के केंद्रीय अध्यक्ष और ऑल इंडिया हो लैंग्वेज एक्शन कमिटी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष भूषण पाठ पिंगुवा ने कहा कि ऑल इंडिया हो लैंग्वेज एक्शन कमिटी द्वारा हो भाषा को भारतीय संविधान की 8वीं अनुसूची में शामिल कराने हेतु राष्ट्रीय स्तर पर तीन और चार दिसंबर को संसद मार्ग में प्रदर्शन किया जायेगा. महाधरना में बिहार, बंगाल, ओड़िशा और झारखंड से हजारों की संख्या में हो भाषा आंदोलनकारी भाग लेंगे. पश्चिम बंगाल, मिदनापुर से बिरेन तुबिद और कार्तिक बांदा आगुवाई करेंगे. ओड़िशा, भुवनेश्वर से लक्ष्मीधर तियु, क्योंझर, चंपुवा से अजय कालुंडिया, बिरबिरसा मुंडा स्टूडेंट यूनियन से मंगल सिंकु आगुवाई करेंगे.

ये करेंगे अगुवाई

झारखंड के चाईबासा व चक्राधरपुर, मझगांव व जगन्नाथपुर से भूषण पाठ पिंगुवा, महासचिव सामड व सोमा कोड़ा आगुवाई करेंगे. एक दिसांबर को सुबह सात बजे उत्कल एक्सप्रेस, चक्राधरपुर से प्रस्थान करेंगे. जमशेदपुर से शिक्षा सचिव बीर सिंह बुड़िऊली के नेतृत्व में टाटा जम्मू-तवी एक्सप्रेस से दोपहर दो बजे दिल्ली के लिए प्रस्थान करेंगे. पुरुषोत्तम एक्सप्रेस जमशेदपुर से जिलाध्यक्ष सुरा बिरूली व जिलाध्यक्ष पश्चिम सिंहभूम गब्बार हेम्ब्रोम की आगुवाई में सुबह 5.30 बजे दिल्ली के लिए रवाना होंगे.

युवाओं में है उत्साह

बीर सिंह बुड़िऊली ने कहा कि इस आंदोलन को कई सामाजिक संगठन व शैक्षणिक संगठनों का समर्थन प्राप्त है. इसके लिए सितंबर से ही तैयारी की जा रही थी. प्रखंड से जिला स्तर पर समाज के लोगों को तन, मन और धन से सहयोग करने की अपील भी की गयी थी. प्रखंड व जिलास्तारीय धरना-प्रदर्शन में बड़ी सफलता भी मिली. भाषा आंदोलन को सामाजिक, राजनीतिक और आर्थिक सहयोग भी मिला. युवाओं में काफी जुनून और उत्साह देखने को मिल रहा है. साथ ही बढ़-चढ़कर हिस्सा भी ले रहे हैं. इस आंदोलन ने कई राज्यों के युवाओं को एक मंच में लाने में बड़ी भूमिका भी निभायी है. संवाददाता सम्मेलन में मुख्य रूप से केसी बुड़िऊली, प्रताप कुंकल, सुशील पूर्ति, मोटाय सुंडी, सामड, गोंविद बिरूवा, शेर सिंह बिरूवा, सोना हांसदा, राम, लक्ष्मण सामड, बबलू बिरूवा व युवा महासभा के साथ सेवानिवृत्त संगठन के पदाधिकारी उपास्थित थे.

इसे भी पढ़ें- आरयू छात्रसंघ चुनाव : हथियारबंद लाव-लश्कर लेकर एबीवीपी की प्रत्याशी के समर्थन में कैंपस पहुंचे…

इसे भी पढ़ें- ग्लोबल एग्रीकल्चर समिट : बाबा रामदेव ने कहा- झारखंड न ले कोई टेंशन, मैं हूं न… वादा किया है,…

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: