NationalTOP SLIDER

नागालैंड में उग्रवादी समझ सुरक्षाबलों ने चलाई गोली, 13 ग्रामीणों की मौत, गृह मंत्री ने जताया दु:ख

Kohima : नागालैंड के मोन जिले के ओटिंग गांव में सुरक्षाबलों ने एक ऑपरेशन के दौरान उग्रवादी समझकर फायर कर दी. जिसमें एक दर्जन से ज्यादा निर्दोष लोगों की जान चली गई. बताया जा रहा है कि सिक्योरिटी फोर्सेस को इनपुट मिला था कि उस जगह पर उग्रवादी संगठन NSCN (KYA) के लोग होंगे और वहां किसी घटना को अंजाम दे सकते हैं. इसलिए ऑपरेशन प्लान किया गया था.

इसे भी पढ़ें : देश में ओमिक्रोन वैरिएंट के चार मामल हुए, जानें-नये मामले कहां-कहां मिले, नये साल में तीसरी लहर की आशंका

advt

रोकने पर नहीं रुकी गाड़ी तो सुरक्षाबलों ने की फायरिंग
इनपुट में जिस रंग की गाड़ी के बारे में बताया गया था उसी रंग की गाड़ी वहां से गुजरी. सिक्योरिटी फोर्स के लोगों ने उसे रुकने को कहा लेकिन वह गाड़ी नहीं रुकी. इसके बाद सिक्योरिटी फोर्स ने फायरिंग कर दी. बाद में जाकर देखा तो पता चला कि वे सिविलियंस हैं.

सूत्रों ने बताया कि एक गुप्त सूचना पर सुरक्षा बलों ने तिरु-ओटिंग सड़क पर घात लगाकर हमला करने की योजना बनाई थी, लेकिन गलती से ग्रामीणों को उग्रवादी समझ लिया. और ये घटना हो गई. इस घटना के बाद इलाके में हिंसा फैल गई.  रिपोर्ट्स के मुताबिक, गुस्साए ग्रामीणों ने सुरक्षाबलों के वाहनों को आग लगा दी. गुस्साई भीड़ पर काबू पाने के लिए जवानों ने फायरिंग भी की. खबर है कि हिंसा में सुरक्षाबलों का एक जवान भी मारा गया है.

नागालैंड के मुख्यमंत्री ने की शांती की अपील

नागालैंड के मुख्यमंत्री नेफियू रियो (Neiphiu Rio) ने शांति की अपील करते हुए रविवार सुबह ट्वीट किया कि ‘राज्य के मोन जिले के ओटिंग गांव में ‘दुर्भाग्यपूर्ण घटना’ में नागरिकों की हत्या अत्यंत निंदनीय है. शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना. उच्च स्तरीय एसआईटी जांच करेगी और देश के कानून के मुताबिक न्याय मिलेगा. सभी वर्गों से शांति की अपील.’

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी इस घटना पर दुख जाहिर किया है. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा है, ‘नगालैंड के ओटिंग, मोन में एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना से दुखी हूं. जिन लोगों ने अपनी जान गंवाई, उनके परिवारों के प्रति मैं अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं. राज्य सरकार द्वारा गठित एक उच्च स्तरीय एसआईटी इस घटना की गहन जांच करेगी ताकि शोक संतप्त परिवारों को न्याय मिल सके.’

हमले में ग्रामीणों के मारे जाने पर स्थानीय लोग गुस्साई भीड़ में तब्दील हो गए और सुरक्षा बलों को घेर लिया. पुलिस सूत्रों ने कहा कि सुरक्षा बलों को ‘आत्मरक्षा’ में भीड़ पर गोलियां चलानी पड़ीं और कई ग्रामीणों को गोलियां लगी. सुरक्षा बलों के कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया.

Nayika

advt

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: