Education & CareerJharkhandRanchi

#Lockdown में दुरुस्त रहे शिक्षा, स्कूल से कॉलेज तक सरकार ने कर रखी है व्यवस्था

विज्ञापन

Ranchi : पिछले 37 दिनों से राज्य में लॉक डाउन है. इस लॉक डाउन की वजह से राज्य के शैक्षणिक संस्थान बंद पड़े हैं. इस वजह से स्कूल से लेकर विश्वविद्यालय तक क्लासेस नहीं चल रही हैं.

स्टूडेंट्स की पढ़ाई में किसी तरह की रुकावट नहीं हो इसके लिए राज्य सरकार की ओर से मुकम्मल व्यवस्था की गयी है.

राज्य में निजी शिक्षण संस्थानों ने अपने यहां पढ़ रहे विद्यार्थियों के लिए पढ़ाने के नये तरीकों को अपना लिया है, पर ऐसा नहीं है कि राज्य के शिक्षण संस्थान निजी संस्थानों से पीछे हैं.

advt

राज्य सरकार के शिक्षा विभाग की ओर से पढ़ाई के हर स्तर पर व्यवस्था की गयी है.

इसे भी पढ़ें – तरबूज के नीचे छिपा की जा रही थी डोडा की तस्करी, 20 लाख रुपए के डोडा के साथ दो राजस्थानी तस्कर गिरफ्तार

व्हाट्सएप ग्रुप से हो रही पढ़ाई

राज्य के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले 40 लाख से अधिक स्टूडेंट्स की पढ़ाई निर्बाध रहे इसके लिए शिक्षा विभाग की ओर से विशेष व्यवस्था की गयी है.

शिक्षा विभाग से लेकर एक-एक स्कूल में व्हाट्सएप ग्रुप बनाया गया है. बीआरपी सीआरपी के गाइडेंस में संचालित हो रहे इन व्हाट्सएप ग्रुप में स्टूडेंट्स को उनकी क्लास के अनुसार जोड़ा गया है. इस व्हाट्सएप क्लास की शुरुआत देवघर जिले से हुई है.

adv

क्लास 1 से 5 तक के प्राथमिक कक्षाओं में पढ़ रहे स्टूडेंट के लिए अलग ग्रुप, क्लास 6 से 8 तक के माध्यमिक कक्षाओं में पढ़ रहे स्टूडेंट के लिए अलग ग्रुप और क्लास 8 से 12 वीं के लिए अलग अलग व्हाट्सएप ग्रुप संचालित हो रहे हैं.

विभागीय आंकड़ो के मुताबिक 12 वी तक के डेढ़ लाख स्टूडेंट को झारखंड शिक्षा परियोजना की ओर से गणित और विज्ञान के स्टडी मैटेरियल उपलब्ध कराया जा रहा है.

इसके अतिरिक शिक्षा परियोजना की ओर से तैयार कराये गये स्टडी मैटेरियल हर क्लास के अनुसार भेज दिये गये हैं. इसका लाभ स्टूडेंट्स उठा रहे हैं.

इसे भी पढ़ें – #Corona : देवघर से 2 नये कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले, झारखंड में कुल 115 संक्रमित

किताब देने की चल रही तैयारी

राज्य सरकार के प्राथमिक, माध्यमिक, उच्च और प्लस टू स्कूलों में पढ़ने वाले स्टूडेंट्स को जेसीईआरटी की ओर से निःशुल्क दी जाती है.

शिक्षा परियोजना के मुताबिक लॉक डाउन होने से पूर्व 15 मार्च तक लगभग 50 फीसदी स्टूडेंट्स तक किताबें देने के लिए ब्लॉक शिक्षा प्रसार पदाधिकारी कार्यालय तक किताबें पहुंचा दी गयी हैं.

इन किताबों को स्टूडेंट्स तक इसी सप्ताह के अंत तक पहुंचा दी जायेगी. गौरतलब है कि विभाग की ओर से 70 फीसदी स्टूडेंट को ध्यान में रखते हुए किताबें छापी जाती हैं.

बाकी 30 फीसदी किताबें स्टूडेंट्स की ओर से जो लौटायी जाती हैं उनसे दी जाती हैं. शिक्षा परियोजना की ओर से जो स्टडी मेटेरियल तैयार किया गया है वह पूरी तरह से सिलेबस को कवर करता है.

विश्वविद्यालयों में चल रही वीडियो क्लासेस

स्कूल स्तर के अलावा राज्य के 7 विश्वविद्यालयों में भी निर्बाध पढ़ाई चल रही है. रांची विश्वविद्यालय अपने कम्युनिटी रेडियो रेडियो खांची के माध्यम से ऑडियो क्लास ले रहा है.

इसके अलावा अपने यूट्यूब चैनल पर भी शिक्षकों के वीडियो क्लासेस अपलोड किए हुए है. रांची यूनिवर्सिटी में 546 और कोल्हान यूनिवर्सिटी में 325 से वीडियो क्लासेस उपलब्ध हैं.

इसे भी पढ़ें – #Lockdown: कोलकाता में फंसे गिरिडीह के डेढ़ सौ लोगों को लाने चेंबर ने वाहन भेजे, सीमा पर बंगाल पुलिस ने रोका

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button