न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पिछले तीन साल में रेल यात्रा के दौरान 1600 यात्रियों की हुई मौत

रेल राज्यमंत्री राजन गोहेन ने लोकसभा में दी जानकारी

550

New Delhi: प्रधानमंत्री भारतीय रेल को अत्याधुनिक बनाना चाहते हैं. देश में ट्रेनों की स्पीड बढ़ाने की बात चल रही है. बुलेट ट्रेन चलाने की चर्चा हो रही है. रेल मंत्री ने भी कहा है रेल यात्रियों की सुविधा और उनकी सुरक्षा सरकार की प्राथमिकता में सबसे उपर है. लेकिन आंकड़े सरकार के दावों की पोल खेल कर रख देते हैं.

इसे भी पढ़ें-कांके वेटनरी कॉलेज के पास 25 एकड़ जमीन पर बनेगा इंटर स्टेट बस टर्मिनल

पिछले तीन साल में यात्रा के दौरान 1600 यात्रियों की हुई मौत

रेल राज्यमंत्री राजन गोहेन ने लोकसभा में एक लिखित प्रशन के उत्तर में जवाब देते हुए बताया कि पिछले तीन सालों में यात्रा करते हुए 1600 यात्री मौत की आगोश में समा गये. कुछ की मौत हार्ट अटैक जैसी बीमारी से हुई तो अधिकतर हादसे का शिकार हुए.

इसे भी पढ़ें- यूथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा, आंसूगैस के गोले दागे, कई कांग्रेसी घायल

ट्रेनों में भोजन की विविधता के लिए ‘रेडी टू इट’ सुविधा

ट्रेनों में भोजन की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए आईआरसीटीसी नए रसोईघर स्थापित करेगी. इतना ही नहीं, मौजूदा रसोईघरों को अपग्रेड बी किया जाएगा. ये बातें रेल राज्यमंत्री राजन गोहेन ने लोकसभा में कही. उन्होने बताया कि यात्रियों को दिए जाने वाले भोजन की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए प्रीपेड ट्रेन मेनू को फिर से तैयार किया गया है. शुरुआत में चुनिंदा राजधानी और दुरांतो रेलगाड़ियों में रसोई से सीधे बायो-डिग्रेडेबल थालियों में एयर टाइट सील के साथ भोजन परोसे जाएंगे. इसके अलावा रेलवे यात्रियों को हैंड सेनिटाइजर देगा. इसे भोजन देने से पहले यात्रियों को दिया जाएगा.

silk_park
भोजन की गुणवत्ता सुधारने के लिए रेडी टी इट योजना
भोजन की गुणवत्ता सुधारने के लिए रेडी टी इट योजना

इसे भी पढ़ें-साबित कर सकता हूं कि सीएम ने भूमि अधिग्रहण बिल लाकर गलती की है : हेमंत

रेलवे के रसोईघरों में लगाए गये सीसीटीवी कैमरे

रेल राज्यमंत्री ने बताया कि रियल टाइम मॉनिटरिंग के लिए रसोईघरों में सीसीटीवी कैमरा लगाया गया है. उन्होने कहा कि यात्री की सुविधाओं के लिए राजधानी और दुरांतो में सर्विस ट्रॉली की शुरुआत की गई है. इसके साथ ही भोजन के लिए ज्यादा पैसे वसूलने से बचने के लिए मोबाइल से कन्क्टेड पीओएस मशीन लगाई गई है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: